2007 विश्व कप विजेता टीम के मैनेजर ने भारत के T20 विश्व कप 2022 से बाहर होने के लिए इन 2 खिलाड़ियों को बताया ज़िम्मेदार

 
t20

T20 विश्व कप 2022 से भारतीय क्रिकेट टीम बाहर हो चुकी है। इंग्लैंड ने सेमीफाइनल में भारतीय टीम को 10 विकेटों से हरा दिया। भारतीय टीम को टूर्नामेंट से बाहर होने के बाद चारों तरफ से आलोचनाओं का सामना करना पड़ रहा है। कई पूर्व खिलाडियों ने भी टीम पर सवाल खड़े किये हैं। कुछ पूर्व क्रिकेटरों ने T20I टीम में बड़े बदलाव करने के लिए कहा है। लालचंद राजपूत, जो 2007 में ICC T20 विश्व कप जीतने वाली भारतीय टीम के मैनेजर थे, उनके अनुसार T20I खेल पावरप्ले में अच्छी बल्लेबाजी और अच्छी गेंदबाजी करके जीते जाते हैं। लालचंद राजपूत ने ऑस्ट्रेलिया में चल रहे वर्ल्ड कप टूर्नामेंट से भारतीय टीम के बाहर होने का ज़िम्मेदार केएल राहुल और रोहित शर्मा की बल्लेबाजी में धीमी शुरुआत को माना।

 

सलामी बल्लेबाज़ों को पॉवरप्ले में तेज़ खेलना होता हैं

लालचंद राजपूत ने कहा,“केएल राहुल और रोहित शर्मा, जिन्होंने आईपीएल और द्विपक्षीय श्रृंखला में अच्छा प्रदर्शन किया है, इस वर्ल्ड कप में काफी संभलकर खेले। उन्होंने कभी भी टीम को अच्छी और आक्रामक शुरुआत नहीं दी, जो आखिर में इंग्लैंड के खिलाफ भारत के लिए परेशानी का कारण बनी।  पावरप्ले के ओवर काफी अहम होते हैं और भारत ने कभी भी उनका इस्तेमाल अपने फायदे के लिए नहीं किया। अन्य टीमों को देखे तो उनके बल्लेबाज शुरू से ही आक्रामक थे, भले ही उन्होंने एक या दो विकेट गंवाए, लेकिन शुरुआत तेज़ की।”

 

सलामी जोड़ी ने किया बड़े टूर्नामेंट में निराश

रोहित शर्मा इस विश्व कप में अच्छा नहीं खेले। वह T20 विश्व कप 2022 में खेले गए 6 मैचों में 19.33 के औसत और 106.42 के स्ट्राइक रेट से केवल 116 रन ही बना सके। केएल राहुल की बात करें तो उन्होंने बांग्लादेश और जिम्बाब्वे के खिलाफ 50+ स्कोर बनाया  लेकिन 'बड़ी टीमों' के खिलाफ वह काफी खराब खेले।  उन्होंने छह मैचों में 21.33 की औसत और 120.75 की स्ट्राइक रेट से कुल 128 रन बनाए।