आईपीएल 2023 के लिए RCB ने जम्मू-कश्मीर के इस पेसर को किया शामिल, 150 की रफ़्तार से करता है गेंदबाज़ी

 
आईपीएल 2023

दोस्तों आईपीएल 2023 के लिए मिनी ऑक्शन हो चुका है और सभी टीमों ने कुछ खिलाड़ियों को अपनी टीम में शामिल करके अपनी टीमों को और भी मजबूत बना लिया है। आज की कड़ी में हम आरसीबी की बात करने वाले हैं। फाफ डू प्लेसिस की कप्तानी वाली रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु ने एक तेज गेंदबाज को इस बार अपनी टीम में शामिल किया है जो कि 150 प्लस की स्पीड से शानदार गेंदबाजी करने में माहिर है। इस गेंदबाज के आने से रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु की कमजोर रही गेंदबाजी अब और अच्छी हो जाएगी।

हम जिस गेंदबाज की बात कर रहे हैं वह जम्मू-कश्मीर के अविनाश सिंह है जो कि लगातार 150 प्लस की स्पीड से गेंदबाजी करते हैं और सही लाइन और लेंथ पर गेंदबाजी करते हैं। अविनाश सिंह एक बेहतरीन गेंदबाज तो है लेकिन उन्होंने अभी तक फर्स्ट क्लास क्रिकेट में भी डेब्यू नहीं किया था। 20 लाख बेस प्राइस वाले अविनाश सिंह को खरीदने के लिए रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु, कोलकाता नाइट राइडर्स और दिल्ली कैपिटल्स ने लड़ाई लड़ी लेकिन आरसीबी ने 60 लाख रुपए देकर इस खिलाड़ी को अपनी टीम में शामिल कर लिया।

फेकी थी 154.3 की स्पीड से गेंद

जब ऑक्शन से पहले ऐसे खिलाड़ियों को टीमें ट्रायल के लिए बुलाती है तब अविनाश सिंह बेंगलुरु कोलकाता और लखनऊ सुपरजाइंट्स के खेमे में जाकर गेंदबाजी का ट्रायल देकर आए थे। वहां पर इस गेंदबाज ने 154.3 की स्पीड से गेंदबाजी की थी और सभी लोगों को इंप्रेस किया था। 150 किलोमीटर प्रति घंटा की स्पीड से अधिक गेंदबाजी करने वाले गेंदबाज काफी घातक सिद्ध होते हैं और विपक्षी बल्लेबाजों को परेशानियों में डालते है। अपने ट्रायल के बाद से ही अविनाश सिंह को यह लग रहा था कि उन्हें किसी न किसी टीम ने तो खरीदना ही है।


अविनाश पहले टेनिस बॉल से ही क्रिकेट खेला करते थे और वह कभी भी लेदर गेंद से गेंदबाजी नहीं करवाए थे। लेकिन एक बार वह जम्मू कश्मीर के एक एकेडमी में गए जहां पर कोच मयंक गोस्वामी ने उनका टैलेंट देखा और पहली बार उनसे लेदर गेंद से गेंदबाजी करवाई तो उन की स्पीड देख कर हैरान रह गए।

पिता चलाते है ऑटो

अविनाश के पिता ऑटो चला कर अपने घर परिवार का पालन पोषण करते हैं। ऑटो चलाने से इतनी कमाई नहीं होती कि वह अपने बेटे को अकैडमी में एडमिशन दिला सके और उसके क्रिकेट के लिए बाकी खर्चों को उठा सके। लेकिन कोच मयंक गोस्वामी के समझाने पर उन्हें 1 साल के लिए अकैडमी में भर्ती करवाया गया और अंत में उनका यह सपना पूरा हो गया और अब आरसीबी के लिए अविनाश 2023 में खेलते हुए नजर आएंगे।