क्या ऋषभ पंत को वनडे वर्ल्ड कप से भी रखा जायेगा बाहर? आखिर व्हाइट बॉल क्रिकेट में कैसे फेल हुआ ये खिलाडी

 
ऋषभ पंत

दोस्तों को बांग्लादेश के खिलाफ वनडे और टेस्ट सीरीज खत्म करने के बाद अब भारतीय टीम अपने ही देश में श्रीलंका के खिलाफ तीन मैचों की T20 सीरीज तथा तीन मैचों की वनडे सीरीज खेलने वाली है। T20 सीरीज का आगाज 3 जनवरी से होने वाला है तथा 10 जनवरी से वनडे सीरीज खेली जाएगी। टी20 और वनडे सीरीज के लिए भारतीय चयन समिति ने खिलाड़ियों का ऐलान कर दिया है दोनों ही टीमों के लिए ऋषभ पंत को बाहर रखा गया है। इस बात से यह अंदाजा लगाया जा रहा है कि यह 2023 में ही होने वाले वनडे वर्ल्ड कप से ऋषभ पंत को बाहर रखेंगे।

ऋषभ पंत भारत के स्टार विकेटकीपर बल्लेबाज है जो कि टेस्ट क्रिकेट में किसी सुपरस्टार से कम नहीं है लेकिन जब बात वाइट बॉल क्रिकेट की आती है तो ऋषभ पंत का बल्ला कुछ खास कमाल नहीं कर पा रहा है। श्रीलंका के खिलाफ ऐलान हुई टीम में ऋषभ पंत को जगह नहीं दी गई है इससे क्रिकेट के दिग्गज अनुमान लगा रहे हैं कि 2023 में भारत में होने वाले वनडे वर्ल्ड कप से पंत को बाहर रखा जाएगा।


वर्ल्ड कप में अभी काफी समय

दोस्तों 2023 के अंत में भारतीय सरजमीं पर ही वनडे वर्ल्ड कप का आयोजन होने वाला है। इस वर्ल्ड कप से पहले भारत को काफी मैच खेलने हैं जिन्हें द्विपक्षीय सीरीज के तहत 15 मैच है और एशिया कप जो कि इस बार वनडे फॉर्मेट में ही होने वाला है उसमें भी अगर भारतीय टीम फाइनल तक पहुंचती है तो 13 मैच होंगे। इस बार एशिया कप का आयोजन पाकिस्तान में होने वाला है तो हो सकता है कि भारतीय टीम वहां पर खेलने ना जाए।

वनडे वर्ल्ड कप होने में अभी काफी समय बाकी है और भारत को तब तक काफी मैच खेलने हैं तो हमें अभी से यह नहीं बोलना चाहिए कि ऋषभ पंत को वनडे वर्ल्ड कप की टीम से बाहर रखा जाएगा। श्रीलंका सीरीज के बाद भारत को न्यूजीलैंड के साथ भी यह वनडे और टी20 की सीरीज खेलनी है तो हो सकता है ऋषभ पंत को वहां पर मौका दिया जाए।

सूत्रों के हवाले से खबर आई है कि यह ऋषभ पंत को इनमें सीरीज से बाहर करने के पीछे उनके घुटने में लगी चोट है। जी हां ऋषभ पंत के घुटने में चोट लगी है जिसकी वजह से उन्हें टीम से बाहर रखा गया है तथा उन्हें अपनी चोट को ठीक करने और स्ट्रैंथ बिल्डिंग के लिए ट्रेनिंग हेतु रिहैब पर भेजा गया है। जैसे ही ऋषभ पंत ठीक हो जाएंगे वह फिर से टीम में आ जाएंगे।