इस कैच को लेकर अम्पायर के फैसले पर मचा बवाल, MCC को समझाना पड़ा क्रिकेट का नियम 19.5.2

 
क्रिकेट

दोस्तो क्रिकेट में कई बार इस पल आते है जब अंपायर के फैसलों पर दर्शक भड़क जाते है। लेकिन कई ऐसे पल भी आते है जब क्रिकेट दिग्गज भी अंपायर के फैसलों पर शक करने लगते हैं और विवाद हो जाता है ऐसा ही एक वाकया हाल ही में चल रही बिग बेस्ट लीग में सामने आया। सिडनी सिक्सर्स और ब्रिसबेन हीट के बीच चल रहे एक मुकाबले में एक खिलाड़ी के बाउंड्री में जाकर कैच पकड़ने पर विवाद छिड़ गया जिस पर क्रिकेट के नियम बनाने वाली संस्था एमसीसी (MCC) ने सामने आकर खुद एंपायर के फैसले को सही साबित किया और रूलबुक का रूल नंबर 19.5.2 समझाया।


क्या हुआ था विवाद

दोस्तों सिडनी सिक्सर्स और ब्रिसबेन हीट के बीच चल रहे एक मुकाबले में बल्लेबाज के द्वारा एक जोरदार शॉट मारा गया जो की बाउंड्री लाइन को पार कर रहा था तभी ऑस्ट्रेलिया खिलाड़ी नेसर ने इस गेंद को बाउंड्री में जाने से पहले कैच किया और उछाल दिया तो वह गेंद बाउंड्री लाइन में जाने लगी तो फिल्डर उस गेंद को बाउंड्री लाइन में जाकर हवा में रहते हुए फिर से बाउंड्री के बाहर फेंक दिया और फिर मैदान में आकर उसे कैच का लिया। ऐसे में दर्शक और खिलाड़ियों के साथ-साथ एंपायर को भी कुछ समझ नहीं आया तो उन्होंने काफी देर विचार विमर्श करने के बाद में बल्लेबाज को आउट ठहरा दिया।

एंपायर का यह फैसला काफी खिलाड़ियों के समझ नहीं आया और वह अंपायर के फैसले को गलत ठहराने लगे। कमेंट्री बॉक्स में बैठे हुए ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी ग्लेन मैक्सवेल ने अंपायर के फैसले को सही बताते हुए इस नियम को समझाने की थोड़ी कोशिश भी की थी लेकिन हर किसी के बात समझ नहीं आई। मामला इतना गरम हो गया था कि क्रिकेट का नियम बनाने वाली संस्था मेलबर्न क्रिकेट क्लब (MCC) ने खुद सामने आकर आईसीसी के रूल बुक का नियम नंबर 19.5.2 सबके सामने रखते हुए अंपायर के फैसले को सही बताया।  MCC के अनुसार फिल्डर को मैदान के अंदर रहना चाहिए जब वह पहली बार उस गेंद को छूता है।