भारत और इंग्लैंड के बीच मुकाबके में 10 साल बाद फिर आमने-सामने ये 4 खिलाडी

 
 T20 वर्ल्ड कप

16 अक्टूबर से शुरू हुए T20 वर्ल्ड कप 2022 का कारवां सेमीफाइनल तक पहुंच गया है। बता दे कि कल यानि 9 नवंबर को सेमीफाइनल का पहला मुकाबला पाकिस्तान बनाम न्यूजीलैंड के बीच खेला जाएगा। वही 10 सितंबर को सेमीफाइनल का दूसरा मुकाबला भारत बनाम इंग्लैंड के बीच खेला जाना है। भारत ने अपने आखिरी मुकाबले में जिंबाब्वे को हराकर सेमीफाइनल के लिए क्वालीफाई किया था।

बता दे कि टीम इंडिया वर्ल्ड 2022 का खिताब जीतने से अब केवल 2 जीत दूर है। साल 2007 के बाद भारतीय टीम के पास अब 15 साल बाद एक बार फिर से खिताब जीतने का सुनहरा अवसर है। वहीं भारत को अपने सेमीफाइनल मुकाबले में इंग्लैंड से भिड़ना है। T20 वर्ल्ड कप के इतिहास में भारत और इंग्लैंड चौथी बार और सेमीफाइनल में पहली बार एक दूसरे के सामने होगी। ऐसे में दोनों ही पूर्व चैंपियन टीमों के बीच एक बार फिर से बड़ा मुकाबला होने की उम्मीद है।

जानकारी के लिए बता दें कि दोनों ही टीमें T20 वर्ल्ड कप में लगभग 10 साल बाद एक दूसरे के सामने होगी। इस दौरान दोनों टीमों में से कुल 4 ऐसे खिलाड़ी हैं जो 10 साल बाद एक बार फिर आमने-सामने होंगे। इसमें भारतीय टीम की ओर से विराट कोहली और रोहित शर्मा है तो वहीं इंग्लैंड की ओर से एलेक्स हेल्स और जोश बटलर है। जो पिछली बार भी एक-दूसरे के खिलाफ खेले थे। और इस बार टी20 वर्ल्ड कप 2022 के टूर्नामेंट में भी अपनी अपनी टीम में मौजूद है। बता दें कि इस बार वर्ल्ड कप में भारतीय टीम की कमान रोहित शर्मा के हाथों है तो वही इंग्लैंड टीम की कमान जोस बटलर संभाल रहे हैं।

साल 2012 में भारत ने इंग्लैंड के खिलाफ आखिरी टी20  मुकाबला खेला था। इस दौरान भारत ने इंग्लैंड को बड़े अंतर से शिकस्त दी थी। उस वक्त भारतीय टीम की कप्तानी महेंद्र सिंह धोनी के हाथों थी। जबकि इंग्लैंड के कप्तान स्टुअर्ट ब्रॉड थे। इस मैच में इंग्लैंड ने वर्ल्ड कप में सबसे शर्मनाक हार का रिकॉर्ड भी बनाया था। भारत बनाम इंग्लैंड मैच में भारत ने इंग्लैंड को 171 रनों का लक्ष्य दिया था। वही लक्ष्य का पीछा करते हुए इंग्लैंड की टीम 14.4 ओवर में 80 रनों पर ही ऑल आउट हो गई। जोकि इंग्लैंड टीम का सबसे न्यूनतम स्कोर रहा।

उस समय रोहित शर्मा ने 30 गेंदों में नाबाद 55 रन बनाए थे  वही विराट कोहली ने 32 गेंदों में 40 रनों की पारी खेली थी। वही इंग्लैंड की ओर से एलेक्स हेल्स बिना खाता खोले ही पवेलियन चलते बने थे। जबकि ने जॉस बटलर ने 12 गेंदों में 11 रन बनाए थे।