ये 3 खिलाड़ी नहीं थे टीम इंडिया से खेलने लायक, जल्दी ही निकल दिया गया बाहर

 
क्रिकेट

सभी क्रिकेट फैंस को यही लगता है कि भारतीय टीम ने उन्ही खिलाड़ियों को सिलेक्शन मिलता है जो कि बहुत ज्यादा टैलेंटेड रहते हैं। परंतु ऐसा नहीं है बॉलीवुड और राजनीति की तरह ही क्रिकेट में भी भाई भतीजावाद चलता है  यदि ऐसा नहीं होता तो सुनील गावस्कर के बेटे रोहन गावस्कर को भारतीय टीम में मौका नहीं मिलता। परंतु उन्हें कुछ समय के लिए ही सही परंतु भारतीय टीम में शामिल किया गया था। आज हम आपको ऐसे ही 3 खिलाड़ियों के बारे में बताएंगे जिन्हें जबरदस्ती टीम में शामिल किया गया। हालांकि वह अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाए जिसके चलते उन्हें जल्द ही टीम से बाहर भी कर दिया गया।

क्रिकेट

1. मनप्रीत गोनी

मनप्रीत गोनी एक मेहनती खिलाड़ी थे जिस प्रकार इंटरनेशनल लेवल पर क्रिकेट खेला जाता है उस हिसाब से मनप्रीत गोनी इंटरनेशनल खिलाड़ी बनने के लायक नहीं थे भारतीय टीम के लिए मनप्रीत गोनी ने 2 एकदिवसीय मैच खेले जिसमें उन्होंने 2 विकेट लिए इसके अलावा आईपीएल के 44 मैचों में 37 विकेट अपने नाम किए थे। माना जाता है कि एमएस धोनी के ज्यादा नजदीक होने के कारण उन्हें भारतीय टीम में खेलने का मौका मिला था।

क्रिकेट

2.रोहन गावस्कर

साल 2004 में डेब्यू करने वाले रोहन गावस्कर भारत के महान खिलाड़ी सुनील गावस्कर के बेटे हैं। भारतीय टीम के लिए रोहन गावस्कर ने 11 एकदिवसीय मैच खेलते हुए 151 रन बनाए हैं इसके अतिरिक्त उन्होंने 10 टी-20 मैचों में 113 रन बनाए हैं कहा जाता है कि सुनील गावस्कर के नाम पर रोहन गावस्कर को भारतीय टीम में शामिल किया गया था।

क्रिकेट

3. स्टुअर्ट बिन्नी

 रोजर बिन्नी के बेटे स्टूअर्ट बिन्नी को भी एक समय में भारतीय टीम में शामिल किया गया था। रोजर बिन्नी पर यह आरोप भी लगाया जाता है कि जब भी स्टूअर्ट बिन्नी के चयन की बात आती है तब वह उठ कर चले जाते हैं। स्टुअर्ट बिन्नी का सिलेक्शन भारतीय टीम में हुआ था परंतु वह कुछ खास प्रदर्शन नहीं कर पाए  भारत के लिए स्टूअर्ट बिन्नी ने 6 टेस्ट मैचों में 3 विकेट लेते हुए 194 रन बनाए हैं वही स्टुअर्ट बिन्नी ने 14 वनडे मुकाबले खेले हैं इस दौरान उन्होंने 20 विकेट लिए तथा 230 रन बनाए हैं।