वर्ल्ड कप के फाइनल में पंहुचकर टीम इंडिया रच सकती है इतिहास, जाने क्या कहते हैं आंकड़े

 
टीम इंडिया

रविवार को हुए तीन अहम मुकाबले के बाद सेमीफाइनल की ओर दो टीमें तय हो चुकी है। बता दें कि इस वर्ल्ड कप के लिए सेमीफाइनल की चारों टीम सिलेक्ट हो चुकी है। 9 नवंबर को न्यूजीलैंड पाकिस्तान के खिलाफ सेमीफाइनल मैच खेलेगी तो वही 10 नवंबर को भारत का मुकाबला इंग्लैंड से होगा। भारतीय टीम के पास वर्ल्ड कप के फाइनल में पहुंचकर इतिहास रचने का अवसर है। यदि भारतीय टीम इंग्लैंड को हराकर फाइनल में पहुंचती है तो वह नया इतिहास रच सकती है।


टीम इंडिया रच सकती है इतिहास

टीम इंडिया अभी तक 2 बार वर्ल्ड कप के फाइनल में पहुंची है। टीम इंडिया ने साल 2007 में अपना पहला विश्व कप का खिताब जीता था। हालांकि उसके बाद साल 2014 में भारतीय टीम फाइनल में पहुंची तो थी परंतु फाइनल मैच में उसे श्रीलंका के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा था। वही इंग्लैंड और पाकिस्तान की टीमें भी दो बार फाइनल में अपनी जगह बना चुकी है। जबकि न्यूजीलैंड की टीम केवल एक बार T20 वर्ल्ड कप 2021 में फाइनल में पहुंची थी। जहां उसे ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा था।


भारतीय टीम का पलड़ा भारी

भारत बनाम इंग्लैंड हेड टू हेड मैच की बात की जाए तो दोनों टीमें टी-20 वर्ल्ड कप में अभी तक कुल 3 बार आमने-सामने हुई है। जिसमें भारतीय टीम दो दो मैच जीते हैं जबकि इंग्लैंड की टीम केवल एक ही मैच जीत पाई थी। साल 2007 के T20 वर्ल्ड कप में भारतीय टीम ने इंग्लैंड को 18 रनों से हराया था। वहीं साल 2009 में भारतीय टीम को 3 रनों से हार मिली थी। वहीं साल 2012 में एक बार फिर दोनों टीमें आमने-सामने थी। जिसमें भारतीय टीम ने इंग्लैंड को 90 रनों से शिकस्त दी थी। इस मैच में सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा ने 33 गेंदों में नाबाद 55 रन, विराट कोहली ने 32 गेंदों में 40 रन और गौतम गंभीर ने 48 गेंदों में 45 रन बनाए थे। उच्चतम स्कोर को देखा जाए तो इंग्लैंड की ओर से हाईएस्ट स्कोर 200 रन जबकि भारत का 218 रन रहा था। इन सब को देखते हुए भारतीय टीम का पलड़ा भारी लग रहा है।


 


कब होगा सेमी फाइनल मुकाबला

बता दे कि एडिलेड ओवल में 10 नवंबर को दोपहर 1:30 बजे से भारत बनाम इंग्लैंड के बीच सेमीफाइनल का मुकाबला खेला जाएगा। अभी तक इस मैदान पर औसत स्कोर 160 से 165 रहा है। इस मैदान पर बाद में बल्लेबाजी करने वाली टीम को फायदा मिल सकता है। पाकिस्तान बनाम बांग्लादेश का मैच भी इसी मैदान पर खेला गया था। जिसमें बांग्लादेश बड़ा स्कोर बनाने में नाकामयाब रही और केवल 127 रन ही बना सकी। बाद में लक्ष्य का पीछा करते हुए पाकिस्तान की टीम ने 18.1 ओवर में ही जीत दर्ज कर ली। यदि भारतीय कप्तान रोहित शर्मा इंग्लैंड के खिलाफ टॉस जीतते हैं तो उन्हें गेंदबाजी चुनना चाहिए। क्योंकि बल्लेबाजी के लिहाज से यह पिच इतनी अच्छी नहीं है।