इंग्लैंड के खिलाफ पहले वनडे में स्टीव स्मिथ अपने प्रदर्शन से खुश, जाने क्या कहा

 
स्टीव स्मिथ

ऑस्ट्रेलिया ने एडिलेड ,ओवल में तीन मैचों की सीरीज के पहले वनडे में हाल ही मे वर्ल्ड कप की चैंपियन को हराकर टी20 विश्व कप की निराशा को खत्म कर दिया। डेविड मलान ने शानदार शतक के साथ दर्शकों को खुश किया, केवल डेविड वार्नर और ट्रैविस हेड ने दूसरी पारी में अपने प्रयासों से मैच को रोमांचक बनाया । हालाँकि, पूर्व ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ ने नाबाद 80 रनों की तेज पारी खेली, एक ऐसी पारी जो उन्हें लगता है कि 'पूर्णता के करीब थी'।

ऑस्ट्रेलियाई ओपनर डेविड वॉर्नर और ट्रेविस हेड के बीच शानदार ओपनिंग पार्टनरशिप के बाद इंग्लैंड का स्कोर मामूली सा लगा। बीच के ओवरों में जल्दी-जल्दी विकेट गंवाने के बाद ऑस्ट्रेलिया थोड़ा बैकफुट पर चला गया था,  पहले बल्लेबाजी करने वाले स्टीव स्मिथ ने घरेलू टीम के लिए योगदान दिया। स्मिथ ने केवल 78 गेंदों में 80 रन बनाए ।

हाल ही में समाप्त हुए T20 WC में सिर्फ एक मैच में खेलने के बाद ऑस्ट्रेलियाई व्हाइट-बॉल टीम में स्मिथ का स्थान खतरे में था। हालाँकि, बल्ले के साथ उनके  योगदान  ने खेल के लंबे प्रारूपों में उनकी क्षमताओं का प्रदर्शन किया और अगले साल भारत में होने वाले 50 ओवरों के WC के लिए उनके प्रमुख खिलाड़ी हो सकते हैं।

स्मिथ ने पहले वनडे के बाद संवाददाताओं से कहा 

यह लगभग छह वर्षों में मैंने शायद सबसे अच्छा महसूस किया है। मैं वास्तव में अच्छी स्थिति में था। और मुझे वास्तव में अच्छा लग रहा था मैंने ईमानदारी से छह साल में ऐसा महसूस नहीं किया है। उस समय कुछ रन बनाना अच्छा रहा है और मै हमेशा पूर्णता की तलाश में रहता हूं और मेरे लिए कल पूर्णता के उतना ही करीब था जितना मुझे मिलेगा," 

इंग्लैंड के खिलाफ जीत के बाद इस बल्लेबाज ने अपनी बल्लेबाजी तकनीक की बारीकियों पर प्रकाश डाला। उन्होंने क्रीज पर अपने समय का अधिक से अधिक लाभ उठाने के लिए पिछले एक साल में अपने बल्लेबाजी रुख और हाथ की स्थिति में किए गए बदलावों का खुलासा किया।

"मैं कुछ चीजों पर काम कर रहा हूं, यह लगभग छह महीने या 12 महीने की प्रक्रिया है। पिछली गर्मियों की शुरुआत में, मैंने अपने हाथों को वापस लाने की कोशिश की, जहां वे 2015 में थे। मुझे ऐसा लगता है कि ' मैं अब थोड़ा और साइड-ऑन रह रहा हूं और मेरे हाथ और पैर एक साथ हो गए हैं।