राहुल द्रविड़ ने बताया क्या फ्लॉप होने के बावजूद पंत को मिलेगा सेमीफाइनल में मौका?

 
भारत

भारत ने इस वर्ल्ड कप का अपना आखिरी सुपर 12 का मैच जिंबाब्वे के खिलाफ खेला था। उसमें भारत ने जिंबाब्वे को 71 रनों के बड़े अंतर से हराया था।वहीं इस जीत के बाद भारत सेमीफाइनल में पहुंच चुका है।बता दे कि सेमीफाइनल के चारों टीमें तय हो चुकी है। भारत अब 10 नवंबर को इंग्लैंड के खिलाफ सेमीफाइनल खेलेगा। बता दें कि जिंबाब्वे के खिलाफ मैच में दिनेश कार्तिक की जगह ऋषभ पंत को शामिल किया गया था। जिस पर भारतीय कोच राहुल द्रविड़ ने कहा कि पंत को मौका देना जरूरी था।

टॉस जीतकर चुनी थी बल्लेबाजी

जिंबाब्वे के खिलाफ मैच में भारतीय कप्तान रोहित शर्मा ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का निर्णय लिया था। इसके पीछे भारतीय कोच राहुल द्रविड़ ने बड़ी वजह बताई है। कोच ने कहा कि हमें मौका मिलता तो हम पहले बल्लेबाजी ही करना चाहते थे। जिसमें हम कुछ चीजें हासिल करना चाहते थे। ईमानदारी से कहूं तो हमने पाकिस्तान के खिलाफ पहले गेंदबाजी की थी। इस प्रकार हम अनुभव करना चाहते थे कि अलग प्रकार की परिस्थितियों में लक्ष्य देना कैसा होता है। वही राहुल द्रविड़ ने कहा कि यदि हम पहले बल्लेबाजी करते हैं तो हमने महसूस किया है कि हमें 20 ओवर खेलने का मौका मिलेगा तथा पहले बल्लेबाजी करते हुए हमें बड़ा स्कोर बनाने का रास्ता मिलता है। वहीं मैच में पंत को शामिल करना जरूरी भी था।

ऋषभ पंत को समय देना चाहते थे कोच

जिंबाब्वे के खिलाफ मैच में ऋषभ पंत कोशामिल किए जाने पर कोच ने कहा कि हर कोई चयन के लिए मौजूद है। केवल इस कारण कि वह एक मैच में चूक गया। इसका मतलब यह नहीं होता है कि हम उन्हें मौका नहीं देंगे। ऋषभ पंत को हम समय देना चाहते हैं जो कि काफी जरूरी भी है। वही राहुल द्रविड़ ने कहा कि आप कई अन्य विकल्पों में से 15 खिलाड़ियों को चुनते हैं।इसका मतलब यह है कि इन खिलाड़ियों में बहुत अधिक आत्मविश्वास है। कुछ खिलाडी किसी किसी मैच में चूक जाते हैं ऐसे में उन्हें मौका जरूर मिलना चाहिए।