अगर टी20 वर्ल्ड कप की टीम इंडिया में खेलते ये 11 खिलाड़ी, तो जीत जाता भारत

 
भारत

भारत ने आखिरी बार आईसीसी ट्रॉफी का जश्न 23 जून 2013 को मनाया था। इसके बाद भारत ने आईसीसी के कई टूर्नामेंट खेले जिसमें साल 2014, 2015, 2016, 2017, 2019, 2021 और 2022 शामिल है। हालांकि इन सालों में भारतीय टीम कभी भी ट्रॉफी नहीं जीत पाई। इस बार T20 वर्ल्ड कप 2022 के टूर्नामेंट में उम्मीद थी कि भारतीय टीम ऑस्ट्रेलिया से विश्व कप लेकर ही लौटेगी। परंतु इस बार भी भारतीय टीम यह खिताब नहीं जीत पाई। भारतीय टीम की इस हार के बाद टीम कप्तान और सिलेक्टर्स पर लगातार सवाल उठाए जा रहे हैं। इस टूर्नामेंट की प्लेइंग इलेवन में शामिल कई खिलाड़ी टी20 के लायक ही नहीं थे। यदि हम एक युवा और अच्छी टीम पर भरोसा जताते तो शायद हम यह विश्वकप जीत जाते। इस हार के बाद भारतीय टीम को अनुभव जरूर मिला होगा। आने वाले सालों में सिलेक्टर्स को एक मजबूत टीम बनाना होगी।

भारत

ओपनर्स

पृथ्वी शॉ

आईपीएल 2022 में दिल्ली की ओर से खेलते हुए पृथ्वी शॉ का प्रदर्शन अच्छा रहा था.  इस सीजन में उन्होंने कुल 286 रन बनाए थे। वही आंकड़ों की बात की जाए तो पृथ्वी 92 टी20 मुकाबले में कुल 2401 रन बनाए हैं। वही हाल ही में सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में पृथ्वी शॉ ने दूसरे सबसे ज्यादा 332 रन बनाए हैं। जिसमें उन्होंने एक शतक भी लगाया है।

संजू सैमसन

IPL 2022 सीजन में संजू सैमसन टॉप 10 रन बनाने वाले बल्लेबाजों की सूची में रहे। वही आईपीएल में संजू सैमसन ने कप्तानी करते हुए अपनी टीम को फाइनल तक भी पहुंचाया था। वर्ल्ड कप में शामिल केएल राहुल के स्थान पर संजू सैमसन को मौका दिया जाना चाहिए था। बता दें कि संजू सैमसन ने भारत के लिए 10 वनडे मैच भी खेले हैं जिसमें उन्होंने कुल 294 रन बनाए हैं।। इसी के साथ 10 पारियों में से संजू 5 बार नॉट आउट भी रहे हैं।

भारत

मिडिल ऑर्डर

विराट कोहली

नंबर 3 पर भारत के स्टार बल्लेबाज विराट कोहली बल्लेबाजी के लिए उपयुक्त है  इस टूर्नामेंट में विराट कोहली ने सबसे ज्यादा 296 रन बनाए थे वही इस दौरान विराट ने इस टूर्नामेंट की 6 पारियों में से 4 अर्धशतक भी लगाए हैं।

सूर्यकुमार यादव

सूर्यकुमार यादव को प्लेइंग इलेवन में रखना अति आवश्यक है। वर्ल्ड कप के इस टूर्नामेंट में सूर्यकुमार यादव स्टार प्लेयर रहे। इस टूर्नामेंट में सूर्या ने विराट के साथ मिलकर भारतीय टीम की बल्लेबाजी को संभाले रखा। इस दौरान सूर्यकुमार ने इस टूर्नामेंट में 239 रन बनाए। यानी यह कहना गलत नहीं होगा कि इस टूर्नामेंट में यदि विराट कोहली और सूर्यकुमार यादव नहीं होते तो भारतीय टीम का हाल और भी बुरा हो सकता था

ऋषभ पंत

इस टूर्नामेंट में ऋषभ पंत को केवल दो ही मैचों में मौका दिया गया था  हालांकि इन मौकों पर ऋषभ पंत अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाए। परंतु ऋषभ पंत एक शानदार बल्लेबाज है। जिसके कारण उन्हें प्लेइंग इलेवन में जरूर शामिल होना चाहिए।

ऑल राउंडर्स

हार्दिक पांड्या

हार्दिक पांड्या भारतीय टीम की बड़ी उम्मीद है  आईपीएल में शानदार प्रदर्शन करते हुए हार्दिक पांड्या ने अपने पहले ही कप्तानी में टीम को आईपीएल का खिताब जिताया था। वही वर्ल्ड कप में भी विराट और सूर्य कुमार के बाद हार्दिक पांड्या ने सबसे ज्यादा 128 रन बनाए हैं। इसके अलावा गेंदबाजी में भी हार्दिक पंड्या ने अर्शदीप सिंह के बाद सबसे ज्यादा 8 विकेट लिए हैं  हार्दिक पांड्या आगे चलकर भारतीय टीम की कप्तानी भी कर सकते हैं।

शार्दुल ठाकुर

पिछले कुछ समय से शार्दुल ठाकुर भारतीय टीम का हिस्सा रहे थे। हालांकि इस वर्ल्ड कप में भी उन्हें रिजर्व खिलाड़ियों में जगह दी गई थी। परंतु यदि उन्हें प्लेइंग इलेवन में रखा होता तो शायद आज नजारा कुछ और होता। बता दे कि भारत के लिए ठाकुर ने 25 मैचों में 33 विकेट लिए हैं। वहीं साल 2022 के आईपीएल में भी उन्होंने 15 विकेट चटकाए हैं।

गेंदबाज

वाशिंगटन सुंदर

वाशिंगटन सुंदर को टीम इंडिया में कई मैचों में देखा गया है। अभी तक वॉशिंगटन ने भारत के लिए 31 टी 20 मुकाबले खेले है। उन्होंने साउथ अफ्रीका और वेस्टइंडीज के खिलाफ 5 मुकाबलों में 7 विकेट लिए थे। वॉशिंगटन सुंदर एक राइट आर्म ऑफ ब्रेक गेंदबाज हैं तथा उनकी उम्र 23 साल है।

भुवनेश्वर कुमार

इस विश्व कप में सेमीफाइनल के अलावा भुवनेश्वर कुमार ने सभी मैचों में अच्छा प्रदर्शन किया।हालांकि इस दौरान भुवनेश्वर कुमार ने ज्यादा विकेट नहीं निकाले। परंतु उन्होंने पावर प्ले में विरोधी टीम को परेशानी में डाले रखा।

मोहम्मद शमी

हार्दिक पांड्या और अर्शदीप सिंह के बाद मोहम्मद शमी इस टूर्नामेंट में भारत के तीसरे सबसे सफल गेंदबाज रहे। इस टूर्नामेंट के छह मैचों में मोहम्मद शमी ने 6 विकेट  निकालते हुए किफायती गेंदबाजी की।

यूज़वेंद्र चहल

T20 वर्ल्ड कप 2022 के पूरे टूर्नामेंट में यूज़वेंद्र चहल को बेंच पर बिठा कर रखा  बता दें कि इस टूर्नामेंट में चहल को एक मैच में भी मौका नहीं दिया गया। वहीं यदि चहल इस विश्व कप में होते तो भारतीय टीम का काम बन सकता था। बता दें कि युजवेंद्र चहल ने भारत के लिए 69 टी 20 मुकाबलों में 85 विकेट लिए हैं वही आईपीएल के 17 मुकाबलों में यूज़वेंद्र चहल सबसे ज्यादा 27 विकेट लेने वाले गेंदबाज है।हालांकि सिलेक्टर्स ने चहल को इस वर्ल्ड कप में एक मैच में भी मौका नहीं दिया।