टी20 सीरीज जीतने के बाद हार्दिक पांड्या का बड़ा बयान

 
हार्दिक पांड्या

दोस्तों हाल ही में भारत और श्रीलंका के बीच तीन मैचों की टी-20 सीरीज खेली गई है। जिसमें भारतीय टीम की कप्तानी हार्दिक पांड्या ने की है। इस सीरीज में भारतीय टीम ने शानदार खेल दिखाते हुए 2-1 से सीरीज को अपने नाम किया है। इस सीरीज में हार्दिक पांड्या की कप्तानी में एक युवा और नई टीम खेल रही थी। जिसमें भारत के अनुभवी खिलाड़ी मौजूद नहीं थे लेकिन फिर भी भारतीय टीम ने एशिया की चैंपियन रही श्रीलंका की टीम को हराया है। कप्तान हार्दिक पांड्या सीरीज जीतने के बाद अपनी टीम के खिलाड़ियों की काफी तारीफ कर रहे थे। आइए हम आपको उसके बारे में बताते हैं।

हार्दिक पांड्या ने सबसे पहले सूर्यकुमार यादव की तारीफ की और कहा कि देखा जाए तो यह मैच सूर्यकुमार यादव और श्रीलंका के बीच ही था। क्योंकि जिस तरह से सूर्यकुमार यादव खेलते हैं वह काफी खतरनाक हो जाते हैं। मैं तो शुरु से ही मानता हूं कि सूर्यकुमार यादव जैसा खिलाड़ी किसी टीम में होना बहुत अच्छी बात है। मैं पहले सोच रहा था कि एक युवा टीम को एशिया की चैंपियन से खिलाना मेरे बस का है कि नहीं। लेकिन फिर मैंने देखा कि मैं यह कर सकता हूं और वास्तव में यह इतना मुश्किल नहीं लगा।

दूसरे मैच में श्रीलंका की वापसी 

इस सीरीज में रोहित शर्मा, विराट कोहली, श्रेयस अय्यर, रविंद्र जडेजा, ऋषभ पंत, भुवनेश्वर कुमार, मोहम्मद शमी, रविचंद्रन अश्विन और जसप्रीत बुमराह जैसे खिलाड़ी नहीं है। उसके बावजूद भी है टीम काफी मजबूत दिखाई दी। इस सीरीज का पहला मैच भारतीय टीम ने आसानी से जीत लिया। लेकिन दूसरे मैच में श्रीलंका के कप्तान की शानदार पारी की बदौलत श्रीलंका की टीम 16 रन से वह मैच जीत गई। लेकिन फाइनल मैच में सूर्यकुमार यादव के तूफान के सामने सब ढेर हो गए और यह मैच 91 रन से भारतीय टीम ने जीत लिया था।

हार्दिक पांड्या ने अपने युवा खिलाड़ियों को सपोर्ट करते हुए कहा कि युवा टीम है यह धीरे-धीरे ही सीखे कि पहले गलतियां करेंगे और उन गलतियों से सीखते हुए यह बेहतर हो जाएंगे। हार्दिक पांड्या कहते हैं कि युवा खिलाड़ियों को में आत्मविश्वास देता हूं और यह मददगार साबित होता है। सूर्यकुमार यादव के अलावा कप्तान हार्दिक पांड्या ने राहुल त्रिपाठी के द्वारा खेली गई 16 रन में गेंदों में 35 रन की पारी का भी उल्लेख किया और इस पारी को लाजवाब बताया।