क्रिकेट की वजह से एक बार फूट-फूटकर रोये थे गौतम गंभीर

 
गौतम गंभीर

दोस्तों भारतीय टीम के पूर्व क्रिकेटर और वर्तमान में बीजेपी लीडर गौतम गंभीर ने जिनके लिए काफी ऐसी पारियां खेली हैं जिन्हें इतिहास में आज भी याद किया जाता है। गौतम गंभीर 2007 और 2011 वर्ल्ड कप में भी भारतीय टीम के लिए खेले थे और इन टूर्नामेंट्स में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले भारतीय खिलाड़ी भी है। इन्हीं की बदौलत भारत ने 2011 का विश्व कप और 2007 टी20 विश्व कप जीता था। हालांकि यह ऐसे मौके होते हैं जब हर कोई इमोशनल के रो देता है लेकिन गौतम गंभीर ने हाल ही में बताया है कि वह सिर्फ एक बार ही क्रिकेट के लिए रोए थे जो कि 2007 और 2011 का वर्ल्ड कप नहीं है।

गौतम गंभीर ने मीडिया से बात करते हुए यह खुलासा किया है कि क्रिकेट उनके जीवन में काफी बड़ा स्थान रखता है। माना कि उनके क्रिकेट के जीवन में काफी इमोशनल आए थे जैसे कि 2007 और 2011 का वर्ल्ड कप। लेकिन तब वह नहीं रोए। उनके जीवन में अभी तक एक ही ऐसा मौका आया है जब वह क्रिकेट के लिए काफी फूट फूट कर रोए थे और उसके बाद कभी भी ऐसा नहीं हुआ।

भारतीय टीम कर रही थी खराब प्रदर्शन 

1992 के वर्ल्ड कप को याद करते हुए गौतम गंभीर ने कहा कि इस समय भारतीय टीम काफी खराब प्रदर्शन कर रही थी और उन्होंने 8 मैचों में से सिर्फ दो ही मैच जीते थे और रोबिन राउंड में वर्ल्ड कप से बाहर हो गए थे। गौतम गंभीर ने कहा कि भारतीय टीम ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ केवल 1 रन से हार का सामना करना पड़ा था और तब वह अपने आंसू नहीं रोक पाए थे और काफी देर तक रोए थे। करीबी अंतर से यह हार वह झेल नहीं पाए और युवा गौतम गंभीर काफी रोए।

गौतम ने बताया कि मुझे वह मैच अभी भी याद है जब ऑस्ट्रेलिया ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 9 विकेट के नुकसान पर 237 रन बनाए थे और उनकी तरफ से डीन ने 90 रन की पारी खेली थी। जवाब में भारतीय टीम की तरफ से कप्तान अजहरुद्दीन ने 93 रन की पारी खेली और भारत को जीत के किनारे पर लाकर खड़ा कर दिया । लेकिन भारतीय खिलाड़ी बारिश को वजह से 47 ओवर के हुए इस मैच में सिर्फ 1 रन से हार गई। शायद इसी वजह से में रोया।