इस भारतीय खिलाडी की बल्लेबाजी के कायल हुए गौतम गंभीर

 
गौतम गंभीर

हाल ही में भारत और श्रीलंका के बीच तीन मैचों की टी-20 सीरीज खेली गई है जिसमें भारतीय टीम ने 21 से इस सीरीज को अपने नाम कर लिया है। आखिरी मैच में सूर्यकुमार यादव के ताबड़तोड़ 112 रनों की बदौलत भारतीय टीम ने इतना बड़ा स्कोर खड़ा कर दिया था कि उसे हासिल करने के चक्कर में श्रीलंका की बल्लेबाजी 137 रन पर ऑल आउट हो गई। इसके चलते हैं भारत ने यह मैच 1 रन से जीता। सूर्यकुमार यादव ने इस पारी में 7 चौके और 9 छक्के लगाए। सूर्यकुमार यादव के अलावा एक और खिलाड़ी है जिसने अपनी छोटी लेकिन महत्वपूर्ण पारी की बदौलत भारतीय टीम को अच्छी शुरुआत दिलाई। जिसकी बदौलत पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर भी उनके फैन हो गए हैं।

दोस्तों भारत और श्रीलंका के बीच खेले गए तीसरे T20 मैच में शुरुआती ओवर में ही राहुल त्रिपाठी ने 16 गेंदों में 218 की स्ट्राइक रेट से 35 रन ठोक डाले। जिसके चलते भारतीय टीम को एक शानदार शुरुआत मिल गई और इसके बाद में सूर्यकुमार यादव और अक्षर पटेल ने मिलकर एक बड़ी इमारत खड़ी कर दी। टॉस जीतकर हार्दिक पांड्या ने बल्लेबाजी करने का फैसला लिया लेकिन इशान किशन पहले ही ओवर में आउट हो गए और शुभ्मन गिल कुछ खास फॉर्म में नहीं चल रहे थे तो उन्होंने काफी धीमी शुरुआत की। लेकिन दूसरी तरफ राहुल त्रिपाठी ने काफी आतिशी पारी खेली और पावर प्ले में भारत को अच्छी स्थिति में पहुंचा दिया।

केवल बाउंड्री से बना लिए 32 रन 

राहुल त्रिपाठी की ऐज 35 रन की पारी में उन्होंने 5 चौके और 2 छक्के लगाए और केवल बाउंड्री से ही उन्होंने अपने 32 रन बना लिए थे। भारतीय टीम को ऐसे ही शुरुआत की जरूरत थी और वह राहुल त्रिपाठी ने कर दिखाया। राहुल त्रिपाठी की बल्लेबाजी देखकर काफी लोग खुश हो गए जिसमें कप्तान हार्दिक पांड्या के अलावा पूर्व भारतीय क्रिकेटर गौतम गंभीर भी है।

गौतम गंभीर ने राहुल त्रिपाठी की इस पारी को देखते हुए उनकी काफी बढ़ाई की और ऐसा कहा कि राहुल त्रिपाठी एक ऐसे खिलाड़ी हैं जो अपनी फ्रेंचाइजी और राज्य के लिए हर बार शानदार बल्लेबाजी करते हैं। गौतम गंभीर कहते हैं कि राहुल त्रिपाठी को चाहे ओपनिंग भेजो, 3 नंबर पर भेजो या मध्यक्रम में। वह अपनी शानदार पारी और बल्लेबाजी से गेंदबाजों का जीना हराम कर सकते हैं। अगर उन्हें ओपनिंग में भेजेंगे तो वह निश्चित ही गेंदबाजों को तहस-नहस कर देंगे। ऐसा ही इंटेंट ओपनर्स का होना चाहिए।