अर्शदीप सिंह की नो-बॉल को लेकर भड़के गौतम गंभीर

 
अर्शदीप सिंह

श्रीलंका के खिलाफ हो रही T20 सीरीज के दूसरे मुकाबले में भारतीय टीम को 16 रनों से हार का सामना करना पड़ा था इस मैच में भारतीय टीम की हार की मुख्य वजह गेंदबाजों का खराब प्रदर्शन रहा। इस दूसरे मुकाबले में गेंदबाज ने बेहद ही निराशाजनक प्रदर्शन किया। वहीं भारतीय गेंदबाजों में से अर्शदीप सिंह ने मैच में 7 नो बॉल फेंकी जिसमें से 5 बॉल अर्शदीप सिंह ने फेंकी। 

गंभीर ने अर्शदीप सिंह को दी नसीहत

क्रिकेट एक्सपर्ट भी दूसरे मुकाबले में भारतीय टीम की हार की वजह नो बॉल को मान रहे हैं।इसी मुद्दे पर पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर ने कहा कि अर्शदीप सिंह को खराब गेंदबाजी का कारण लंबे समय बाद टीम में वापसी करना रहा। स्टार सपोर्ट से बात करते हुए गौतम गंभीर ने कहा कि  7 नो बॉल करना 21 ओवर गेंदबाजी करने जैसा है।

आपको मैच नहीं खेलना चाहिए गंभीर

गौतम गंभीर ने आगे कहा कि यदि आप चोट के बाद वापसी कर रहे हैं तो फिर आप को अंतरराष्ट्रीय मैच नहीं खेलना चाहिए आपको घरेलू क्रिकेट में खेलते हुए अपनी लाइन लेंथ को वापस पाना चाहिए क्योंकि इंटरनेशनल क्रिकेट में नो बॉल स्वीकार नहीं है यदि कोई खिलाड़ी लंबे समय से बाहर है या चोटिल है तो उन्हें घरेलू क्रिकेट में वापस जाना होगा वहां पर उन्हें 15-20 ओवर गेंदबाजी करके देखना होगा तभी वह अंतरराष्ट्रीय मुकाबले खेल पाएंगे।

कोच को ध्यान देने की आवश्यकता

पूर्व ओपनर गौतम गंभीर ने आगे कहा कि गेंदबाज अभ्यास के दौरान नो बॉल फेंक रहे हैं इसलिए इंटरनेशनल मैचों में ऐसी गलतियां बार-बार दोहराई जा रही है। फिल्डर गलतियां कर सकते हैं बल्लेबाज खराब शॉट खेल सकते हैं परंतु इंटरनेशनल क्रिकेट में नो बॉल स्वीकार नहीं है आप अभ्यास सत्र के दौरान ऐसे ही नो बोल कर रहे होंगे यही कारण है कि बड़े इंटरनेशनल मैचों में भी आप ऐसा ही करते हैं गेंदबाजी कोच को इस पर ध्यान देने की आवश्यकता है अभ्यास सत्र में उन्हें कठोर होना पड़ेगा।

अर्शदीप सिंह ने दिए 37 रन 

दूसरे टी 20 मुकाबले में पारी के दूसरे ओवर में अर्शदीप सिंह ने लगातार तीन नो बॉल फेंक दी थी जिसके बाद यही नहीं बल्कि अपने अगले ओवर में भी अर्शदीप सिंह ने 2 नो बॉल फेंक दी थी। 2 ओवर करते हुए अर्शदीप सिंह ने 37 रन दिए थे जो की मैच का टर्निंग प्वाइंट रहा वही अर्शदीप सिंह के अलावा शिवम मावी और उमरान मलिक ने भी एक-एक नो बॉल फेंकी थी।