टी20 क्रिकेट छोड़ने पर कप्तान रोहित शर्मा ने दिया जवाब

 
रोहित शर्मा

भारतीय कप्तान रोहित शर्मा ने गुवाहाटी में श्रीलंका के खिलाफ पहले एक दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय वनडे की पूर्व संध्या पर अपनी प्री-मैच प्रेस कॉन्फ्रेंस में तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह के अंतिम क्षणों में प्रस्थान से लेकर भारत के चयन की पहेली तक कई सवालों के जवाब दिए। 

गौरतलब है कि बांग्लादेश टेस्ट और श्रीलंका टी20 आई में बाएं हाथ की चोट के कारण उपलब्ध ना होने के बाद भारतीय कप्तान अब विराट कोहली के साथ श्रीलंका के खिलाफ वनडे सीरीज से वापसी करने जा रहे हैं। 

सोमवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में बोलते हुए, भारतीय कप्तान रोहित शर्मा ने खुलासा किया कि बुमराह को श्रीलंका के खिलाफ पूरी श्रृंखला से बाहर क्यों किया गया। रोहित ने यह भी पुष्टि की कि प्रमुख बल्लेबाज शुभमन गिल तीन मैचों की श्रृंखला में अनुभवी भारतीय सलामी बल्लेबाज के साथ पारी की शुरुआत करेंगे। वरिष्ठ सलामी बल्लेबाज रोहित और पूर्व उप-कप्तान केएल राहुल की अनुपस्थिति में, युवा इशान किशन और शुभमन गिल ने टी20 सीरीज में पारी की शुरुआत की थी।

तीनों प्रारूपों में लगातार खेलना संभव नहीं

कार्यवाहक कप्तान हार्दिक पांड्या के नेतृत्व में टीम इंडिया ने शनिवार को श्रीलंका पर 2-1 से सीरीज में जीत दर्ज की। रोहित विश्व कप के 2022 संस्करण के बाद भारत की टी20ई टीम में शामिल नहीं हुए हैं। हालाँकि, 35 वर्षीय रोहित, ने इस पर सहमति जताई है कि उनके जैसे खिलाड़ियों के लिए तीनों प्रारूपों में लगातार खेलना संभव नहीं है। उन्होंने ये भी साफ किया कि खेल के सबसे छोटे प्रारूप को छोड़ने की उनकी कोई योजना नहीं है। 

रोहित शर्मा ने कहा "हमारे पास केवल 6 टी20 आई हैं, जिसमें से तीन खत्म हो गए हैं। इसलिए हम मैनेज करेंगे। आईपीएल तक खिलाड़ियों की देखभाल करना है। फिर हम देखेंगे कि आईपीएल के बाद क्या होता है, लेकिन निश्चित रूप से, मैंने इस प्रारूप को छोड़ने का फैसला नहीं किया है।" 

वनडे विश्व कप के बारे में बोलते हुए रोहित शर्मा ने कहा कि "फिलहाल मुझे लगता है कि अतीत में यह स्पष्ट कर दिया गया था कि यह हमारे लिए 50 ओवर का विश्व कप वर्ष है और कुछ खिलाड़ियों के लिए, सभी प्रारूपों में खेलना संभव नहीं है। यदि आप कार्यक्रम को देखें, तो कुछ -टू-बैक मैच हैं, इसलिए हमने कुछ खिलाड़ियों के वर्कलोड पर ध्यान देने का फैसला किया। हम यह सुनिश्चित करना चाहते थे कि उन्हें पर्याप्त ब्रेक समय मिले और उनका प्रबंधन करें। मैं भी निश्चित रूप से उस (श्रेणी) में आता हूं"।