BCCI की मीटिंग में हुआ बड़ा खुलासा, रोहित शर्मा से छिनने जा रही टीम इंडिया की कप्तानी?

 
BCCI

साल 2023 के पहले दिन से ही बीसीसीआई एक्शन के मूड में दिखाई दे रही है हाल ही में रविवार को बीसीसीआई ने रिव्यू मीटिंग आयोजित की थी इस मीटिंग में बीसीसीआई ने भारतीय क्रिकेट टीम के T20 क्रिकेट के प्रदर्शन को लेकर चर्चा की। साथ ही ऑस्ट्रेलिया में हुए वर्ल्ड कप की हार पर भी चर्चा की गई। वही एक और अहम मुद्दे पर भी विचार किया गया जो कि रोहित शर्मा की कप्तानी से जुड़ा है इस मीटिंग से बना अपडेट निकल कर सामने आया है।

रोहित की कप्तानी को खतरा

टेस्ट और वनडे क्रिकेट में रोहित शर्मा की कप्तानी पर फिलहाल कोई खतरा नहीं है परंतु T20 क्रिकेट में रोहित शर्मा की कप्तानी पर खतरा मंडरा रहा है मुख्य कोच राहुल द्रविड़ और कप्तान रोहित शर्मा भी बीसीसीआई द्वारा बुलाई गई बैठक में भाग लिया था इस बैठक में चयन समिति के प्रमुख चेतन शर्मा बोर्ड अध्यक्ष रोजर बिन्नी और एनसीपी प्रमुख वीवीएस लक्ष्मण भी मौजूद थे इस बैठक का मुख्य उद्देश्य विश्व टेस्ट चैंपियनशिप तथा वनडे वर्ल्ड कप का खिताब जीतने की तैयारियों को लेकर था।

वर्ल्ड कप की तैयारियां तेज

गौरतलब है कि इसी साल वनडे वर्ल्ड कप का आयोजन भी होना है हालांकि रविवार को हुई मीटिंग में टी-20 टीम के नए कप्तान हार्दिक पांड्या शामिल नहीं हुए थे इस समय हार्दिक पांड्या श्रीलंका के खिलाफ सीरीज के लिए मुंबई में है बीसीसीआई के एक सूत्र ने बताया कि वनडे और टेस्ट में रोहित शर्मा ही कप्तान बने रहेंगे इस पर कोई परेशानी नहीं आएगी क्योंकि वन डे और टेस्ट क्रिकेट में रोहित की कप्तानी का रिकॉर्ड शानदार रहा है वही साल 2023 के वर्ल्ड कप के लिए खिलाड़ियों की 20 सदस्य की सूची तैयार कि गई है वहीं बैठक में भाग लेने वाले चेतन शर्मा चयन समिति के दोबारा अध्यक्ष बन सकते हैं। यदि  वह अध्यक्ष नहीं बने तो भी उत्तरी क्षेत्र के प्रतिनिधि रहेंगे इसके अलावा वेंकटेश प्रसाद का नाम दक्षिण क्षेत्र की ओर से चल रहा है।

चेतन शर्मा दोबारा बन सकते हैं मुख्य सिलेक्टर

2023 वर्ल्ड कप की तैयारी के लिए चेतन शर्मा रोडमैप तैयार करने में शामिल थे वहीं सूत्रों के अनुसार यदि चेतन शर्मा को नहीं कहा जाता तो वह इस पद के लिए आवेदन नहीं करते यह अपने आप में ही एक संकेत है। भारत को अभी विश्व कप खेलने में 10 महीने का समय है वही हरविंदर और चेतन शर्मा की मौजूदगी में 3 नए सदस्यों के साथ निरंतरता बनी रहेगी वही 21 टेस्ट का अनुभव वाले एस एस दास के पूर्वी क्षेत्र से चुने जाने की संभावना है वहीं पश्चिम से गुजरात के मुकुंद परमार, समीर दिघे तथा सलिल अंकोला रेस में है।