BCCI ने एक बार फिर दिखाया ICC में अपना दबदबा, जय शाह और सौरव गांगुली को मिली ये ज़िम्मेदारी

 
BCCI

एक बार फिर बीसीसीआई भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड का दबदबा इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसलिंग में देखने को मिला। बीते शनिवार को आईसीसी ने अपनी टीम की घोषणा की थी। जिसमें आईसीसी का चेयरमैन फिर से एक बार ग्रेग बार्कले को नियुक्त किया गया। बता दें कि उनके कार्यकाल की अवधि 2 साल होगी। साथ ही पूर्व बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली और सचिव जय शाह को नई जिम्मेदारी दी गई। शनिवार को सर्वसम्मति से दूसरे कार्यकाल में आईसीसी का चेयरमैन न्यूजीलैंड के ग्रेग बार्कले को चुना गया। बता दें कि गग्रेग बार्कले के कार्यकाल की अवधि 2 वर्ष होगी। जिंबाब्वे के तवेंग्या मुकुहलानी के नाम वापस लेने के बाद ग्रेट बार्कले को निर्विरोध नियुक्त किया गया। बार्कले के पूर्ण समर्थन की आईसीसी बोर्ड ने पुष्टि की।

फिर से अपनी नियुक्ति होने पर बार्कले ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद का चेयरमैन चुना जाना बड़े सम्मान की बात है। वही में आईसीसी निदेशकों को समर्थन के लिए उनका आभार व्यक्त करना चाहूंगा। जानकारी के लिए बता दें कि साल 2020 में बार्कले को आईसीसी चेयरमैन के रूप में नियुक्त किया गया था। वहीं इससे पहले वह न्यूजीलैंड के चेयरमैन तथा आईसीसी मेन क्रिकेट विश्व कप 2015 में निदेशक भी थे।

सौरव गांगुली और जय शाह को मिली यह बड़ी जिम्मेदारी

बार्कले की नियुक्ति के अलावा कुछ अन्य नियुक्ति भी हुई। इसमें बीसीसीआई सचिव जय शाह को आईसीसी की कमर्शियल और वित्तीय मामलों की कमेटी के अध्यक्ष के रूप में नियुक्त किया गया। यही कमेटी आईसीसी के सभी वित्तीय फैसले लेती है। ऐसे में सचिव जय शाह को अहम पोस्ट पर नियुक्ति मिली है। आईसीसी ने अपने बयान में बताया कि सभी सदस्यों ने जय शाह कि इस पद पर नियुक्ति का स्वागत किया। इस कमेटी के अध्यक्ष को आईसीसी चेयरमैन के बराबर माना जाता है। आईसीसी के सभी सदस्यों के रेवेन्यू शेयर, स्पॉन्सर और अन्य डील कमेटी के पास तय करने की क्षमता रहती है। पूर्व भारतीय कप्तान और बीसीसीआई के पूर्व अध्यक्ष सौरव गांगुली आईसीसी क्रिकेट कमेटी के अध्यक्ष पद पर बने रहेंगे। बता दें कि सौरव गांगुली को पिछले साल इस पद पर नियुक्त किया गया था जो कि अब वह आगे भी इसी पद पर बने रहेंगे।