फाइनल में पाकिस्तान की करारी हार के बाद सामने आया बाबर आजम का बड़ा बयान

 
पाकिस्तान

सेमीफाइनल मुकाबले में भारत को हराने के बाद इंग्लैंड टीम ने अपने फाइनल मुकाबले में पाकिस्तान को 5 विकेट से शिकस्त देते हुए टी-20 वर्ल्ड कप 2022 का खिताब अपने नाम कर लिया है। बता दें कि 13 नवंबर को मेलबर्न में खेले गए मुकाबले में इंग्लैंड टीम ने टॉस जीतकर पाकिस्तान को पहले बल्लेबाजी का न्योता दिया। वहीं कप्तान जोश बटलर का यह फैसला बिल्कुल सही साबित हुआ।

पाकिस्तान के बल्लेबाज रहे फ्लॉप

पहले बल्लेबाजी करते हुए पाकिस्तान की टीम 20 ओवर में 8 विकेट के नुकसान पर केवल 138 रन ही बना पाई। इस अहम मुकाबले में पाकिस्तान के कप्तान बाबर आजम 32 रन बनाकर ही आउट हो गए। वहीं सलामी बल्लेबाज मोहम्मद रिजवान 15 रन बनाकर पवेलियन लौट गए।इसके अलावा मोहम्मद हरीस 8रन, शान मसूद 38 रन,शादाब खान 20 रन, मोहम्मद नवाज 5 रन और मोहम्मद वसीम 4 रन ही बना सके। वहीं इंग्लैंड की ओर से  सैम करन ने बेहतरीन गेंदबाजी करते हुए 4 ओवर में केवल 12 रन ही दिए। इसी के साथ सेम करन ने 3 विकेट भी अपने नाम किए। सैम करन के अलावा क्रिस जॉर्डन, आदिल रशीद ने 2-2 और बेन स्टोक्स ने एक विकेट लिया। बड़े मुकाबले में पाकिस्तान की बल्लेबाजी पूरी तरह से फ्लॉप रहे। वही फाइनल मुकाबले में हार के बाद पाकिस्तान के कप्तान बाबर आजम ने बड़ा बयान दिया है।


बाबर आजम ने दिया बड़ा बयान 

इंग्लैंड के खिलाफ हार के बाद बाबर आजम ने कहा कि इससे पहले हम दो मैच हार गए थे हालांकि जिस प्रकार पिछले चार मैचों में हमने प्रदर्शन किया। वह काफी शानदार था। जब बाबर आजम से पूछा गया कि इंग्लैंड के खिलाफ मैच से पहले उन्होंने टीम को क्या संदेश दिया। इस पर बाबर आजम ने जवाब दिया कि मैंने सभी खिलाड़ियों को कहा कि वह फ्रीडम के साथ मैच खेले। हमें लगता था कि हमारा स्कोर लगभग 15- 20 रन कम था।बाबर आजम ने आगे कहा कि टीम ने मैच के आखिर तक शानदार लड़ाई लड़ी।


शाहिद अफरीदी हो गए थे चोटिल 

गेंदबाजी पर बात करते हुए बाबर आजम ने कहा कि हमारी गेंदबाजी निश्चित तौर पर दुनिया में सबसे बेस्ट अटैक है। जिस तरह से हमने शुरू के 6 ओवर में मैच की शुरुआत की। वह काफी बेहतरीन रहा। दुर्भाग्य से मैच में शाहिद अफरीदी चोटिल हो गए जिसके बाद हमें हमारे विपरीत परिणाम देखना पड़ा। दरअसल शाहिद अफरीदी मैच में फील्डिंग के दौरान चोटिल हो गए थे। जिसके बाद उन्हें मैदान से बाहर ले जाया गया। इंग्लैंड के खिलाफ बड़े मुकाबले में शाहिन अफरीदी केवल 2.1 ओवर ही कर सके इस दौरान उन्होंने 13 रन देकर एक विकेट लिया था। बता दें की शाहिन अफरीदी डेथ ओवरों में अच्छी गेंदबाजी करते हैं। यदि शाहिन अफरीदी चोटिल नहीं होते तो पाकिस्तान टीम को डेथ ओवर्स में कुछ विकेट मिल सकते थे। हालांकि इंग्लैंड के खिलाफ फाइनल मुकाबले में पाकिस्तान को 5 विकेट से हार का सामना करना पड़ा। जिसके कारण 1992 वर्ल्ड कप जीतने के 30 साल बाद पाकिस्तान की टीम इतिहास दोहराने से चूक गई।