T20 विश्व कप 2022: रवि शास्त्री ने सेमीफाइनल मैच के लिए दिनेश कार्तिक और ऋषभ पंत के बीच अपनी पसंद बताई

 
r

 भले ही दिनेश कार्तिक और ऋषभ पंत अलग-अलग पायदानों पर बल्लेबाजी करते हैं और अलग-अलग भूमिकाएँ निभाते हैं, लेकिन हार्दिक पांड्या और अक्षर पटेल के बल्लेबाज़ी क्रम के बदलने के बाद टीम कार्तिक और पंत में से केवल एक खिलाडी को ही खिला सकती है।

 

दोनों विकेटकीपर बल्लेबाज मौजूदा T20 विश्व कप 2022 में अपने अवसरों को भुनाने में नाकाम रहे हैं और अब भारतीय टीम इस बात को लेकर मुश्किल में है कि गुरुवार को एडिलेड में इंग्लैंड के खिलाफ अहम सेमीफाइनल में दोनों में से किसपर भरोसा किया जाए।  कार्तिक ने विश्व कप के पहले 4 मैच खेले लेकिन उन मैचों में एक अच्छे फिनिशर की भूमिका नहीं निभा सके। उन्होंने पाकिस्तान के विरुद्ध 2 गेंदों में 1 रन बनाए,  दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 6 रन बनाए।  पिछले गेम में जिम्बाब्वे के खिलाफ ऋषभ पंत को खिलाया गया। बाए हाथ के इस खिलाड़ी ने 5 गेंदों पर 3 रन बनाए और छक्का मारने की कोशिश करते हुए आउट हो गए।

 

रवि शास्त्री ने दिनेश कार्तिक की जगह ऋषभ पंत का पक्ष लिया क्योंकि पंत बाएं हाथ के हैं  भारत के पूर्व मुख्य कोच रवि शास्त्री का मानना ​​है कि इंग्लैंड के खिलाफ एडिलेड में होने वाले सेमीफाइनल के लिए ऋषभ पंत को दिनेश कार्तिक की जगह खिलाना चाहिए। शास्त्री ने तर्क दिया कि पंत बाएं हाथ के बल्लेबाज़ है और वे इंग्लैंड और न्यूजीलैंड जैसी टीमों के खिलाफ अच्छा खेल सकते हैं क्योंकि इन टीमों में  लेग स्पिनर है।

 

शास्त्री ने भारत बनाम ज़िम्बाब्वे के मुकाबले के बाद कहा,“दिनेश एक शानदार खिलाड़ी है।  लेकिन जब इंग्लैंड या न्यूजीलैंड के खिलाफ मैच की बात आती है, तो मुझे लगता है कि आपको एक मजबूत बाएं हाथ के बल्लेबाज की जरूरत है जो कि फिल्हाल ऋषभ पंत है। वे एक मैच विनर साबित हो सकते है। ” “आप एडिलेड में खेल रहे हैं और वहाँ की परिस्थितियों के हिसाब से आपके टीम में एक बाएं हाथ का खिलाड़ी होना चाहिए। यदि आपके पास बहुत अधिक दाहिने हाथ वाले हैं, तो ये कोई अच्छा साबित नहीं होगा।  इंग्लैंड के पास अच्छा आक्रमण है, बाएं और दाएं हाथ के बल्लेबाजों का विविध आक्रमण है।”

 

शास्त्री ने जोर देकर कहा, "आपको अपनी टीम में एक बाएं हाथ के बल्लेबाज की जरूरत है, जो खतरनाक हो सकता है और आखिरी के ओवरों में आपको एक गेम जीत सकता है, भले ही आपने शुरुआत में 3 या 4 विकेट गंवाए हों।"  शास्त्री का मानना ​​है कि पंत भारतीय टीम में एक "एक्स-फैक्टर" लाते हैं। जुलाई में इंग्लैंड के खिलाफ पंत के एकदिवसीय शतक की ओर इशारा करते हुए, पूर्व कोच ने कहा: “ऋषभ ने इंग्लैंड के खिलाफ अच्छा प्रदर्शन किया है। उन्होंने हाल ही में इंग्लैंड के खिलाफ एक मैच जीताने वाली पारी खेली है। मैं चाहूँगा की पंत सेमीफाइनल में खेले।”