;
TOP 5/10

ENG के खिलाफ एक ही टेस्ट में शतक और अर्द्धशतक दोनों लगाने वाले 5 भारतीय बल्लेबाज

ऑस्ट्रेलिया को ऑस्ट्रेलिया में हराने के बाद भारत की टीम इंग्लैंड के खिलाफ 4 टेस्ट मैचों की घरेलू सीरीज खेलेगी. जिसके लिए दोनों टीमों ने चेन्नई में कदम रख दिया हैं, हालाँकि कोरोना क्वारंटाइन के कारण खिलाड़ियों ने अभ्यास शुरू नहीं किया. श्रृंखला का आगाज 5 फरवरी से होगा हालाँकि इससे पहले इस लेख में हम 5 ऐसे खिलाड़ियों के बारे में जानेगे, जिन्होने अंग्रेज टीम के खिलाड़ी ही टेस्ट में शतक और अर्द्धशतक दोनों लगाए हैं.

1) वीनू मांकड – लॉर्ड्स टेस्ट (1952)

Vinoo Mankad: 100 years on, Magnifico Mankad remains a trailblazer, the  perfect pro | Cricket News - Times of India
भारत और इंग्लैंड के बीच साल 1952 में लॉर्ड्स के मैदान पर वीनू मांकड ये खास उपलब्धि हासिल करने वाले पहले इंडियन बने थे. उन्होंने पहली पारी में 138 गेंदों पर 72 रनों की दमदार पारी खेली थी जबकि दूसरी पारी में उन्होंने सिर्फ 270 गेंदों पर 184 रनों की ऐतिहासिक पारी खेली थी.

2) फारुख इंजिनियर- मुंबई (1973)
Top Ten Thing Know About Last Indian Parsi Cricket Farokh Engineer- Inext  Live
पूर्व महान खिलाड़ी फारुख इंजिनियर इस खास कारनामा करने भारत के दूसरे खिलाड़ी थे. उन्होंने साल 1973 में मुंबई के मैदान पर पहली पारी में सिर्फ 182 गेंदों पर अपने करियर की सर्वोच्च पारी खेलते हुए 121 रनों की पारी खेली थी. जबकि दूसरी पारी में उन्होंने 141 गेंदों पर 66 रन बनाए थे.

3) सुनील गावस्कर- मैनचेस्टर (1974)
जब गावस्कर ने कसम खा ली थी कि कुछ भी हो जाए रन नहीं बनाऊंगा! - Indian  batsman Sunil Gavaskar innings of 36 in 60 overs
भारत के पूर्व लिटल मास्टर सुनील गावस्कर ने भी ये कारनामा किया हैं. इस महान बल्लेबाज ने साल 1974 में मैनचेस्टर के मैदान पर पहली पारी में 101 रनों की पारी खेली थी जबकि दूसरी पारी में उन्होंने 140 गेंदों पर 5 चौकों की मदद से 58 रन बनाए थे.

;

4) गौतम गंभीर- मोहाली (2008)
Twitter Reactions: Gautam Gambhir returns to the Test squad after two years
भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर भी इस एलीट क्लब में शामिल हैं. उन्होंने 2008 के मोहाली टेस्ट में ये खास कारनामा किया था. खब्बू खिलाड़ी ने पहली पारी में 179 रनों की दमदार पारी खेली थी जबकि दूसरी पारी में उन्होंने 97 रन बनाए थे.

;
;

5) मुरली विजय- नॉटिंघम (2014)
Murali Vijay says, won't regret for missing the century if India wins the  test match | टेस्ट जीते तो शतक चूकने का मलाल नहीं होगा: मुरली विजय | Hindi  News, खेल-खिलाड़ी
मुरली विजय में शामिल अकेले खिलाड़ी हैं जिसने अभी संन्यास नहीं लिया हैं हालाँकि वर्तमान में वह टीम इंडिया की प्लेइंग इलेवन का हिस्सा नहीं हैं. विजय ने 2014 में नॉटिंघम में खेले गए टेस्ट की पहली पारी में 25 चौके और एक छक्के की मदद से 146 रन बनाए थे जबकि दूसरी पारी में उन्होंने 52 रनों की महत्वपूर्ण पारी खेली थी.

;

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *