TOP 5/10

8 क्रिकेटर्स जिनके शानदार करियर का दुखद अंत हुआ

क्रिकेट के खेल में ऐसे कई क्रिकेटर देखने को मिले हैं, जिन्होंने वर्षो तक शानदार प्रदर्शन करते हुए अपनी टीम को जीत दिलाई हैं और क्रिकेट फैन्स का दिल खुश किया हैं लेकिन दुर्भाग्य से कुछ खिलाड़ियों के क्रिकेट करियर  का अंत बेहद ही दुखद तरीके से हुआ. इस लेख में ऐसे ही 8 क्रिकेटरों के बारे में हम जानेगे.

1) नवजोत सिंह सिद्दू

Supreme Court re-opens case against Navjot Sidhu | bharattimes.com


नवजोत सिंह एक ऐसे व्यक्ति है जो भावनाओं को काफी महत्व देते है लेकिन उनके क्रिकेट करियर का अंत बेहद दुखद था. खबरों की माने तो अजित वाडेकर ने उन्हें अनफिट करार दिया था और उनके स्थान पर टीम में अन्य खिलाड़ी तो चुना था, जिसके बाद तत्कलीन कप्तान मोहमम्द अज़हरुद्दीन ने उन्हें वर्ल्ड कप 1999 की टीम में नहीं चुना था. ये अभी साफ़ नहीं हो पाया है कि उन्होंने टीम इंडिया को छोड़ा था कि उन्हें टीम इंडिया से निकाला गया था. उन्हें एक फेयरफेल मैच भी नहीं दिया गया था.

2) वीवीएस लक्ष्मण

How Did VVS Laxman Get Better At Commentary? He Went To Hindi ...


किसी को नहीं पता कि इस क्रिकेट दिग्गज ने किस तरह क्रिकेट को अलविदा कहा था. सूत्रों के अनुसार, वीवीएस लक्ष्मण भारत के 2011 के ऑस्ट्रेलियाई दौरे के दौरान अपनी सर्वश्रेष्ठ क्षमताओं को मैदान पर साबित करने में विफल रहे, जहां उन्होंने आठ पारियों में केवल दो अर्धशतक बनाए. इस दौरे के बाद उनकी बहुत आलोचना हुई और यहां तक ​​कि मीडिया और क्रिकेट बिरादरी ने उन्हें बताना शुरू कर दिया कि उनके रिटायर होने का समय आ गया है.

अगर खबरों की माने तो उन्होंने आलोचना को बहुत गंभीरता से लिया और इस कदर आहत हुए कि उन्होंने संन्यास लेने का फैसला कर लिया.

3) केविन पीटरसन

Pakistan v England third ODI: Kevin Pietersen scores a century as ...


द गार्डियन द्वारा केविन पीटरसन को ‘इंग्लैंड का सबसे बड़ा आधुनिक बल्लेबाज’ और टाइम्स द्वारा ‘क्रिकेट का सबसे पूर्ण बल्लेबाज’ कहा गया. केविन पीटरसन ने 2018 में क्रिकेट से संन्यास की घोषणा करने पर सभी को हैरान कर दिया था. क्रिकेट से अचानक संन्यास के फैसले ने उनके प्रशंसकों को भावुक कर दिया था. अपने लंबे पोस्ट में, केपी ने अपने प्रशंसकों और साथ ही परिवार को अपने करियर के दौरान उनका समर्थन करने के लिए धन्यवाद दिया. उन्होंने इस दौरान ये बताया कि अब उनके परिवार को प्राथमिकता देने का समय आ गया हैं.

4) जेम्स टेलर

James Taylor century propels England to 300/8 in 3rd ODI against ...


जेम्स टेलर बेहतरीन फील्डरों में से एक थे, हालांकि, उनका क्रिकेटिंग करियर एक दुखद तरीके से समाप्त हुआ क्योंकि उन्हें अपने दिल की गंभीर बिमारी ‘वेंट्रिकुलर कार्डियोमायोपैथी’ के कारण क्रिकेट से संन्यास लेने को मजबूर होना पड़ा. उनकी स्वास्थ्य स्थिति ने उनके क्रिकेटिंग करियर को सीमित कर दिया और उन्होंने 26 वर्ष की उम्र में संन्यास का ऐलान कर दिया.

5) हेनरी ओलंगा

5 unknown bowlers who destroyed the Indian batting line-up in ODIs


जिम्बाब्वे के तेज गेंदबाज हेनरी ओलोंगा उन खिलाड़ियों में से एक थे, जो अपने करियर की शुरुआत के तुरंत बाद गायब हो गए. 2003 के विश्व कप के दौरान, ज़िम्बाब्वे में लोकतंत्र की मृत्यु के विरोध में हेनरी ने अपनी कलाई पर काली पट्टी पहनी थी. हालाँकि, उसके लिए यह जटिल चीजें, जलसेक, उसके देश के अधिकारी उसे गिरफ्तार करने आए थे. इसके बाद, उन्होंने अपनी संन्यास की घोषणा की.

6) जोनाथन ट्रोट

England beat Sri Lanka by 16 runs at Old Trafford | Daily Mail Online


इंग्लैंड के पूर्व शीर्ष क्रम के बल्लेबाज, जोनाथन ट्रॉट ने खेल के दबाव और तनाव के कारण क्रिकेट छोड़ा. साल 2015 में वेस्टइंडीज के विरुद्ध एक सीरीज हारने के बाद, ट्रॉट ने खेल से संन्यास की घोषणा की. बाद में, ट्रॉट ने खुलासा किया कि चिंता के मुद्दों और अप्रबंधित तनाव के कारण उन्होंने यह निर्णय लिया.

7) मोहम्मद कैफ

Mohd Kaif's best ODI innings - Caught At Point


मोहम्मद कैफ अपने समय के दौरान बेहतरीन फील्डरों में से एक थे. उन्होंने टीम इंडिया के लिए कई यादगार प्रदर्शन दिए हैं और महत्वपूर्ण मैचों में कई बार भारत को जीत दिलाई. हालांकि, ग्रेग चैपल की कोचिंग के दौरान बैटिंग लाइन अप कुछ परिवर्तनों के कारण उन्हें विश्व कप 2007 से बाहर कर दिया गया. तब वह सिर्फ केवल 26 वर्ष के थे, जब उन्होंने अपना अंतिम अंतर्राष्ट्रीय मैच खेला और खेल के सभी प्रारूपों से संन्यास ले लिया.

8) मार्क बाउचर  

Eye injury ends Boucher's career | ESPNcricinfo.com


इमरान ताहिर ने एक गुगली फेंकी जो स्टंप से टकरा गई और उडती हुई दक्षिण अफ्रीका के विकेटकीपर मार्क बाउचर की आंख पर जा लगी. इस घटना ने बाउचर के करियर को हमेशा के लिए समाप्त कर दिया. इस घटना के बाद उन्हें अस्पताल ले जाया गया और बाद में लैकरेटेड नेत्रगोलक का इलाज किया गया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *