इंटरव्यू न्यूज़

टीम में चयन न होने से टूट गया था मैं, लेकिन इस खिलाड़ी की एक बात ने बना दिया करियर

कर्नाटक के बल्लेबाज मयंक अग्रवाल पिछले कुछ वर्षो से घरेलू क्रिकेट में लगातार शानदार प्रदर्शन कर रहे थे लेकिन चयन समिति उन्हें नजरंदाज़ कर रही रही, जिससे वह काफी दुखी थे, इस दौरान राहुल द्रविड़ ने उन्हें प्रेरित किया, जिसने मयंक की काफी मदद की.

मयंक अग्रवाल को 2018-19 में ऑस्ट्रेलिया पर मेलबोर्न क्रिकेट स्टेडियम में टेस्ट डेब्यू का मौका मिला था. अग्रवाल ने संजय मांजरेकर को ईएसपीएनक्रिकइन्फो पर एक वीडियोकॉस्ट में बताया, “मैं रन बना रहा था तुम्हें पता है. मैंने रणजी ट्रॉफी सीज़न और भारत ए के लिए बड़े पैमाने पर रन बनाए. जब राहुल भाई के कुछ शब्दों ने मेरा करियर बनाया. उन्होंने कहा था कि आने वाला समय बीते हुए से अलग नहीं होगा. अगर नकारात्मक सोच के साथ खेलोगे तो नुकसान तुम्हारा ही होगा. मुझे ये बात अभी तक याद है जो मेरे लिए प्रेरणा बनी.”

आगे मयंक ने बताया, “मुझे अच्छे से याद है कि मुझे राहुल भाई ने कहा था कि  मयंक ये वो चीजें हैं जो आपके हाथों में हैं. आपने कड़ी मेहनत की है, और आपने यहां सफलता पाई है. तुम अन्तराष्ट्रीय क्रिकेट में डेब्यू के बेहद करीब हो लेकिन चयन आपके हाथ में नहीं है,  और मैं उससे पूरी तरह सहमत था. सैद्धांतिक रूप से, आप यह समझते हैं लेकिन व्यावहारिक रूप से यह आसान नहीं है.”

अग्रवाल ने ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध डेब्यू मैच में 76 रनों की पारी खेली थी, जिसके बाद से उन्होंने टेस्ट की 17 पारियों में 57.29 की औसत और 3 शतकों की मदद से 974 रन बनाये हैं.

मयंक ने आगे बताया, कि “जब टीम इंडिया में मेरा चयन हुआ तो मैं बेहद खुश था और मैंने राहुल भाई को कॉल करके धन्यवाद भी कहा था.”

अन्तराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास के बाद से राहुल द्रविड़ भारत ए और अंडर19 टीम के कोच के रूप में देश की युवा प्रतिभाओं को लगातार निखार रहे हैं, जिसका फायदा भारतीय क्रिकेट को मिल भी रहा हैं.  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *