TOP 5/10

IPL की इकलौती टीम जिसके विरुद्ध CSK टीम को मिली हैं सबसे ज्यादा हार, NO-1 पर है सबकी फेवरेट

एमएस धोनी की कप्तानी वाली चेन्नई सुपर किंग्स यकीनन आईपीएल की सबसे सफल टीम में से एक हैं, हालाँकि आईपीएल में सबसे अधिक खिताब जीत की बात की जाए तो मुंबई की टीम टॉप पर हैं लेकिन मुंबई ने आईपीएल के 12 सीजन खेले हैं जबकि चेन्नई सुपर किंग्स ने 10 सीजन खेले हैं.

चेन्नई सुपर किंग्स ने इकलौती ऐसी टीम हैं, जो सभी 10 सीजन के प्लेऑफ में जगह बना पायी हैं जबकि 7 आईपीएल फाइनल खेले हैं, हालाँकि आज इस लेख में हम टॉप 5 ऐसी टीमों के बारे में जानेगे, जिन्होंने आईपीएल में चेन्नई सुपर किंग्स को सबसे अधिक मैच हराए हैं. इस सूची में नंबर पर मुंबई इंडियंस की टीम शामिल हैं.

5) राजस्थान रॉयल्स- 7 जीत

Image result for rr vipl 2019 filding


आईपीएल का पहला सीजन जीतने वाली राजस्थान रॉयल्स की टीम इस सूची में पांचवे स्थान पर हैं. राजस्थान की टीम ने चेन्नई के विरुद्ध 7 मैच जीते हैं जबकि 14 मैच हारे हैं.

4) कोलकाता नाईट राइडर्स- 7 जीत

Image result for kkr ipl 2019 fielding


कोलकाता नाईट राइडर्स के विरुद्ध भी चेन्नई सुपर किंग्स का पलड़ा भारी रहा हैं. दोनों टीमों के बीच खेले गए मैचों में कोलकाता को 7 जीत मिली हैं जबकि चेन्नई ने कोलकाता को 13 मैच हराए हैं.

3) रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर- 8 जीत

Image result for rcb ipl 2019 fielding


विराट कोहली की कप्तानी वाली रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की टीम इस सूची में तीसरे स्थान पर हैं. बैंगलोर ने चेन्नई को 8 मैच हराए हैं जबकि 15 मैच हारे हैं.

2) किंग्स इलेवन पंजाब- 9 जीत

Image result for kxip ipl 2019 fielding


किंग्स इलेवन पंजाब की टीम इस सूची में दूसरे स्थान पर हैं. पंजाब की टीम ने चेन्नई को 9 बार हराया हैं जबकि इस दौरान टीम को 12 मैचों में हार झेलनी पड़ी हैं.

1) मुंबई इंडियंस- 17 जीत

Image result for mi ipl 2019 fielding


4 बार आईपीएल खिताब जीतने वाली मुंबई इंडियंस आईपीएल इतिहास की इकलौती टीम हैं, जिसे चेन्नई के विरुद्ध हार से ज्यादा जीत मिली हैं. मुंबई ने चेन्नई को 17 बार हराया हैं जबकि 11 मैचों में चेन्नई की टीम को जीत मिली हैं.

आईपीएल इतिहास की कौनसी टीम आपको सबसे ज्यादा पसंद हैं? कमेंट बॉक्स में अपनी राय देना न भूले.   
 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *