TOP 5/10

5 मौके जब अपने व्यक्तिगत रिकॉर्ड के चक्कर में सचिन और धोनी जैसे महान खिलाड़ियों ने झुकाया देश का सर

क्रिकेट का खेल अब दुनिया में काफी लोकप्रिय हो चूका हैं. देश के युवा खिलाड़ी इस खेल में अपने देश का प्रतिनिधित्व करने के लिए कड़ी मेहनत करते है, हालाँकि कुछ खुशनसीब क्रिकेटर ही अपने इस सपने को पूरा कर पाते है और अपने देश का नाम रोशन करने के लिए हरसंभव कोशिश करते हैं. लेकिन क्रिकेटर के जीवन में कई बार ऐसे मौके आते है जब वे अपने व्यक्तिगत रिकॉर्ड के लिए अपनी टीम की बाजी भी लगा देते हैं.

आज इस लेख में हम भारतीय बल्लेबाजों द्वारा खेली गयी 5 सबसे स्वार्थी पारियों के बारे में जानेगे.

i) एमएस धोनी बनाम इंग्लैंड, 2018

Image result for dhoni in eng odi 2018


भारत के महान विकेटकीपर बल्लेबाज और पूर्व कप्तान एमएस धोनी इस सूची में इंग्लैंड के विरुद्ध 2018 में खेली गयी अपनी पारी के कारण शामिल हैं. इंग्लैंड दौरे पर खेली गयी वनडे सीरीज में दूसरे मुकाबले में इंग्लैंड ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 322 रनों का विशाल स्कोर खड़ा किया था.

इसके जवाब में धोनी भारत के स्कोर 140/4 पर बल्लेबाजी करने आये, इस दौरान धोनी से पारी की सँभालने की उम्मीद थी और साथ-साथ रनों की गति को भी नियंत्रण में रखने की जिम्मेदारी थी लेकिन धोनी ने बेहद धीमी बल्लेबाजी की, किसके कारण भारत के अन्य बल्लेबाज जवाब में आ गए और भारत सिर्फ 236 रनों पर ऑलआउट हो गया, इस मैच में धोनी ने 59 गेंदों पर सिर्फ 37 रन बनाये थे.

ii) दिनेश कार्तिक बनाम श्रीलंका, 2009

Image result for dinesh karthik odi 2009

दिनेश कार्तिक ने 2009 में श्रीलंका के विरुद्ध विनिंग रन बनाने के चक्कर में सचिन तेंदुलकर को शानदार अर्द्धशतक बनाने से रोक दिया, जिससे उस समय क्रिकेट फैन्स बेहद गुस्सा हुए थे, जिसके कारण कार्तिक की ये पारी इस सूची में शामिल हैं.

कटक में खेले गए मुकाबले में श्रीलंका ने पहले बल्लेबाजी करते हुए सलामी बल्लेबाज उपुल थरंगा के 73 रनों की मदद से 239 रन बनाये थे. जिसके जवाब में सहवाग ने सिर्फ 20 गेंदों पर 44 रनों की ताबड़तोड़ शुरुआत देते हुए मैच को जीत के करीब पहुंचा दिया. इस मैच में कार्तिक भारत के स्कोर 169/3 के स्कोर पर बल्लेबाजी करने आये थे जबकि दूसरी अर्द्धशतक सचिन अर्द्धशतक लगाकर खेल रहे हैं. आखिर ओवर में भारत को जीत के 7 रनों की दरकार थी, जिसके बाद सचिन ने पहली दो गेंदों चौका और एक रन लेकर कार्तिक को स्ट्राइक दिए और 96 रनों पर पहुँच गए, जिसके बाद कार्तिक ने चौका लगाकर भारत को मैच जीता दिया.

iii) सुनील गावस्कर बनाम इंग्लैंड, 1975

Image result for gavaskar 36 notout

सुनील गावस्कर यकीनन भारतीय क्रिकेट इतिहास के सबसे महान बल्लेबाजों में शामिल है लेकिन 1975 में उनकी स्वार्थी पारी ने लाखों क्रिकेट फैन्स का दिल तोड़ दिया था. भारत 1975 वर्ल्ड कप में इंग्लैंड के विरुद्ध 334 रनों के लक्ष्य का पीछा कर रहा था.

जिसके जवाब में भारत को शुरुआती 3 झटके लगे और सुनील गावस्कर बल्लेबाजी करने आये और 176 गेंदों पर नाबाद 36 रनों की पारी खेलकर पवेलियन लौटे, जिसके कारण भारत को इस मैच में 202 रनों की शर्मनाक हार झेलनी पड़ी थी.

iv) सचिन तेंदुलकर बनाम बांग्लादेश, 2012

Image result for sachin upset odi


क्रिकेट के भगवान कहें जाने वाले सचिन तेंदुलकर ने क्रिकेट के क्षेत्र में अमूल्य योगदान दिया, इसके बावजूद उनका नाम इस सूची में शामिल किया गया हैं, जिसका प्रमुख कारण बांग्लादेश के विरुद्ध खेली गयी उनकी स्वार्थी पारी हैं.

एशिया कप 2012 में ढाका के मैदान पर भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 50 ओवरों में 289 रन बनाये थे, लेकिन इस मैच में सचिन तेंदुलकर ने एक बेहद धीमी पारी खेलते हुए अपने अन्तराष्ट्रीय करियर का 100वां शतक लगाया था, जिसके कारण 320-325 का स्कोर सिर्फ 289 ही बना पाया, सचिन ने इस मैच में 147 गेंदों पर सिर्फ 114 रन बनाये हैं. जिसके कारण इस मैच में भारत को हार का मुंह देखना पड़ा था.

v) रवि शास्त्री बनाम ऑस्ट्रेलिया, 1992

Image result for ravi shastri 1992 world cup odi

रवि शास्त्री ने आईसीसी वर्ल्ड कप 1992 में ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध 67 गेंदों पर सिर्फ 25 रन बनाये थे, जिसके कारण वह इस सूची में शामिल किये गए हैं. इस मैच में भारत को 47 ओवरों में 236 रनों का लक्ष्य मिला था.

जिसके जवाब में, भारत ने के. श्रीकांत के रूप में अपना पहला विकेट जल्दी गँवा दिया था जिसके शास्त्री बल्लेबाजी करने आये और बेहद धीमी बल्लेबाजी करते हुए टीम पर दवाब बनाकर वापसी पवेलियन लौटे.        

   

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *