न्यूज़

अंडर-19 वर्ल्ड कप फाइनल में मिली हार से भड़के कप्तान प्रियम गर्ग, इन्हें ठहराया हार के लिए जिम्मेदार

आईसीसी अंडर19 वर्ल्ड कप फाइनल में भारत और बांग्लादेश के बीच एक बेहद रोमांचक मुकाबले में बांग्लादेश ने पहली बार खिताब अपने नाम किया. मैच के बाद निराश भारतीय कप्तान प्रियम ने बल्लेबाजों को हार के लिए जिम्मेदार माना. कप्तान के अनुसार बल्लेबाजों को 215-220 के करीब रन बनाने चाहिए थे लेकिन टीम सिर्फ 177 रन ही बना पायी थी जोकि डिफेंड करना काफी मुश्किल था.

Image result for captain priyam garg post match presneation

पोस्ट मैच प्रेजेंटेशन में इंडियन कप्तान प्रियम गर्ग ने कहा, “आज हमारा दिन नहीं था. सभी ने शानदार प्रदर्शन किया, हालाँकि परिणाम हमारे हक़ में नहीं आया. जिस तरह हम सभी ने लड़ने का जज्बा दिखाया, उससे बतौर कप्तान मैं बहुत प्रसन्न हूँ, हमारे गेंदबाजों ने अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन दिया.”

बल्लेबाजों के बारे में कही ये बात

यशस्वी जायसवाल

प्रियम गर्ग ने फाइनल में बल्लेबाजों के खराब प्रदर्शन पर कहा, “टॉस कोई महत्व नहीं रखता था, विकेट में कुछ था. बांग्लादेश के गेंदबाजों ने दमदार शुरुआत की और हमारे बल्लेबाजों पर दवाब बनाया, हालाँकि हम कुछ और रन बना पाते तो अच्छा होता. हमें 215-220 रन बनाने की उम्मीद थी,  ईमानदारी से कहू, तो 178 रन डिफेंड करना कभी भी आसान नहीं होता हैं.”

“बांग्लादेश ने अच्छी बैटिंग की उन्हें इस जीत का क्रेडिट देना होगा. यहां दक्षिण अफ्रीका में खेलने का एक अच्छा अनुभव है. वर्ल्ड कप से पहले हमने यहां एक सीरीज खेली थी और वह हमारे लिए अच्छी भी रही थी.”

मैच का हाल

Image result for ind vs ban u19

मैच में भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए सलामी बल्लेबाज यशस्वी जयसवाल के 121 गेंदों पर 8 चौके और एक छक्के की मदद से 88 रनों के योगदान के कारण 177 रन बनायें. बांग्लादेश की ओर से अविषेक दास ने 9 ओवरों में 40 रन देकर 3 विकेट लिये जबकि शोरिफुल इस्लाम और तंजीम हसन सकीब ने 2-2 विकेट लिये.

जवाब में बांग्लादेश की ओर से सलामी बल्लेबाज परवेज़ हुसैन एमोन ने 47 और अकबर अली ने नाबाद 43 रनों की पारी खेलकर 42.1 ओवर में 7 विकेट खोकर मैच आसानी से जीत लिया. भारत की ओर से स्पिनर रवि बिश्नोई ने 10 ओवरों में सिर्फ 30 रन देकर 4 बल्लेबाजों को पवेलियन भेजा, इस दौरान उन्होंने 3 मेडेन ओवर भी डाले.  
   

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *