एस श्रीसंत एक समय टीम इंडिया के प्रमुख तेज गेदबाज़ हुआ करते थे लेकिन उनकी एक गलती ने उनके करियर पर ब्रेक लगा दिया. पूर्व तेज गेंदबाज़ एस. श्रीसंत वर्ष 2013 में आईपीएल के दौरान स्पॉट फिक्सिंग के कारण गिरफ्तार हुए थे और कुछ दिनों जेल में भी रहकर आये थे. इसके बाद से उनका क्रिकेट करियर पूरी तरह से रुक गया था, जोकि अभी तक शुरू नहीं हो पाया हैं. इस घटना के बाद बीसीसीआई ने श्रीसंत पर आजीवन बैन लगाया था.

Photo: Twitter 

7 अगस्त 2017 को केरल की एक अदालत ने एस. श्रीसंत पर आजीवन बैन हटा दिया था, लेकिन बीसीसीआई उनके साथ नरमी नहीं बरत रही है और उन पर आजीवन बैन नहीं हटाना चाहती हैं. यही कारण है कि श्रीसंत ने बीसीसीआई के फ़ैसले के विरुद्ध एक याचिका दायर की हैं.

श्रीसंत के फैन्स के एक अच्छी ख़बर यह आ रही हैं  कि जल्द ही एस. श्रीसंत की याचिका पर सुनवाई होने वाली है जिसकी पुष्टि सुप्रीम कोर्ट द्वारा कर दी गई है. सुप्रीम कोर्ट ने बीसीसीआई द्वारा लगाये श्रीसंत पर लगायें गए बैन के संबंध में एस श्रीसंत द्वारा याचिका पर 2 महीनों बाद बाद सुनवाई करने का निर्णय लिया है.

Photo: Twitter :

इस विषय पर प्रमुख जज दीपक मिश्रा, जज ए एम खानविलकर और डी वाई चंद्रचुड़ की समिति का कहना है कि, “श्रीसंत की याचिका 8 हफ्ते बाद सुनवाई के लिए सूचीबद्ध की जाती है.”

श्रीसंत द्वारा दायर की गई याचिका में कहा गया है कि उन पर आजीवन बैन की सजा एक बेहद कड़ी सजा हैं. वह इस मामले के कारण 5 वर्षो से क्रिकेट नहीं खेल पायें हैं.

श्रीसंत का करियर

#ThrowBackThursday #Mentor #Senior #Guru #SachinTendulkar !

A post shared by Sree Santh (@sreesanthnair36) on

एस श्रीसंत ने अब तक भारत के लिए 27 टेस्ट, 53 वनडे  और 10 अन्तराष्ट्रीय टी-ट्वेंटी खेले हैं. इस दौरान उन्होंने क्रमश: 87, 75 और 7 विकेट लिए हैं.

श्रीसंत ने अपने आईपीएल करियर के दौरान 44 मैचो में 29.85 की औसत और 8.14 की इकॉनोमिक दर से 40 विकेट लिए हैं.