टीम इंडिया के पूर्व सलामी बल्लेबाज़ वीरेंद्र सहवाग इन दिनों व्यस्त हैं. रजत शर्मा कोदिल्ली और जिला क्रिकेट एसोसिएशन (डीडीसीए) का अध्यक्ष चुने जाने के बाद सहवाग को 3 सदस्यों की क्रिकेट कमिटी का सदस्य बनाया गया है. इसके बाद सहवाग को एक अलग जिम्मेदारी भी मिल गयी हैं. संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में टी10 क्रिकेट के दूसरे संस्करण के लिए सहवाग को मराठा अरेबियंस का बल्लेबाजी कोच बनाया गया हैं.

Photo: Twitter

टी10 क्रिकेट के पहले संस्करण में 39 वर्षीय सहवाग मराठा अरेबियंस के कप्तान थे, हालाँकि वह उम्मीदों के अनुसार प्रदर्शन करने में नाकाम रहे थे. लेकिन मराठा अरेबियंस टीम मैनेजमेंट ने उन्हें बल्लेबाजी कोच की भूमिका के लिए चुना हैं.

मराठा अरेबियंस के सह-मालिक परवेज खान ने 26 जुलाई को दुबई से स्पोर्टस्टार को बताया, “हमने सहवाग को बल्लेबाजी कोच बनाने का फैसला किया हैं बिना सहवाग के मराठा अरेबियंस की कल्पना करना मुश्किल है जिन्होंने पिछले साल टीम का नेतृत्व किया था.”

Photo: Getty Image



खान ने बताया कि सहवाग ने अपनी नयी भूमिका स्वीकार कर ली हैं और वह बहुत उत्साहित भी हैं. खान ने कहा, “वह बल्लेबाजों की मदद करना चाहते थे और हम इसके लिए तत्पर हैं.”

पूर्व दिग्गज पाकिस्तानी गेंदबाज़ वसीम अकरम टीम के मेंटर बने रहेगे. जानकी अफगानिस्तान के सनसनीखेज स्पिनर रशीद खान, इस संस्करण के लिए प्रमुख खिलाड़ी के रूप में फ्रेंचाइजी में शामिल किये गए हैं.

टी10 का पहला संस्करण दिसम्बर के मध्य में खेला था. इस टूर्नामेंट में इंग्लैंड के इयोन मॉर्गन की कप्तानी वाली केरल किंग्स ने फाइनल में पंजाब लीजेंड को 8 विकेट से हराकर खिताब अपने नाम किया था.

Photo: Twitter

सहवाग ने टी10 के पहले संस्करण में मराठा अरेबियंस के लिए दी लीग मैचो में कप्तानी की थी. जिसमे से एक मैच में उन्होंने बल्लेबाजी नहीं की थी, जबकि दूसरे में वह पहली ही गेंद पर पवेलियन लौट गए थे. सहवाग को मराठा अरेबियंस को सेमी-फाइनल में केरल किंग्स ने हराकर टूर्नामेंट से बाहर किया था.