टीम इंडिया आयरलैंड के विरुद्ध टी-ट्वेंटी सीरीज खेलकर इंग्लैंड सीरीज की तैयारियां करेगी. आयरलैंड के विरुद्ध राष्ट्रीय चयनकर्ता ने एक बेहद ही मजबूत टीम चुनी हैं, क्योंकि कप्तान कोहली और टीम मैनेजमेंट आयरलैंड को हल्के में लेने की गलती बिल्कुल नहीं करेगी. इस लेख में हम पहले टी-ट्वेंटी के लिए टीम इंडिया की संभावित प्लेइंग इलेवन के बारे में जानेगे:-

सलामी बल्लेबाज़- (रोहित शर्मा- शिखर धवन)

Enjoyed the time out in the middle yesterday #AnotherSeriesInTheBag ????

A post shared by Rohit Sharma (@rohitsharma45) on

रोहित शर्मा के लिए आईपीएल 11 बेहद ही ख़राब रहा था. ऐसे में इंग्लैंड दौरे की शुरुआत से पहले रोहित शर्मा कुछ अच्छी पारियां खेलकर आत्मविश्वास हासिल करने के लिए बेताब हैं. आयरलैंड के पास कुछ ख़ास मजबूत गेंदबाजी नहीं हैं. ऐसे में रोहित अच्छी शुरुआत देकर अन्य बल्लेबाजों की राह आसान का सकते हैं.

Jedey modeyaan utho di cigey thukdey, oh muthiyaan ch michey hoye haan..????????????????

A post shared by Shikhar Dhawan (@shikhardofficial) on

पहले टी-ट्वेंटी में बाएं हाथ के सलामी बल्लेबाज़ शिखर धवन रोहित शर्मा के पार्टनर होगे. हालाँकि टीम केएल राहुल के रूप में एक और इनफॉर्म सलामी बल्लेबाज़ मौजूद हैं. आईपीएल और अफगानिस्तान के विरुद्ध अच्छा करके धवन का हौसला बुलंद होगा.

मध्यक्रम – (विराट कोहली, सुरेश रैना, दिनेश कार्तिक)

आईपीएल के दौरान चोटिल होने वाले विराट कोहली आयरलैंड सीरीज के लिए पूरी तरह से फिट हो चुके हैं. हालाँकि वह चोट के कारण इंग्लैंड में काउंटी चैंपियनशिप नहीं खेल पायें थे. इसके आलावा वह चोट के कारण अफगानिस्तान के विरुद्ध एतिहासिक भी नहीं खेल पाए थे. आयरलैंड के विरुद्ध कोहली नंबर 3 पर बल्लेबाजी करते हुए दिखाई देगे.

आयरलैंड के विरुद्ध पहले टी-ट्वेंटी में दिग्गज अनुभवी बल्लेबाज़ सुरेश रैना नंबर 4 बल्लेबाजी करते हुए दिखाई दे सकते हैं. आईपीएल में साधारण प्रदर्शन के बाद रैना से अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद होगी, इसने आलावा विकेटकीपर दिनेश कार्तिक को नंबर पर मौका मिल सकता हैं. आईपीएल 11 और निद्हास ट्राफी में अच्छे प्रदर्शन के बाद कार्तिक ने खूब सुर्खियाँ बटौरी थी.

विकेटकीपर और ऑलराउंडर- (एमएस धोनी, हार्दिक पंड्या)

दिग्गज एमएस धोनी आईपीएल 2018 में एक अलग ही अंदाज़ में बल्लेबाजी करते हुए दिखाई दिए. सीजन के दौरान धोनी ने अकेले ही अपनी टीम चेन्नई सुपर किंग्स को कई मैच जितायें हैं. पीछे कुछ वर्षो में धोनी का रिकॉर्ड अन्तराष्ट्रीय टी-ट्वेंटी में औसत रहा हैं. आयरलैंड के अपने आखिरी दौरे पर धोनी कमाल कर सकते हैं.

हार्दिक पंड्या ने बतौर गेंदबाज़ आईपीएल में बेहद शानदार प्रदर्शन किया था. पंड्या अपनी टीम मुंबई इंडियंस के सबसे अधिक विकेट लेने वाले गेंदबाज़ रहे थे. हालाँकि उनका बल्ला पुरे सीजन में शांत रहा था. इंग्लैंड दौरा शुरू होने से पहले पंड्या अपनी बल्लेबाजी फॉर्म की तलाश में हैं.

स्पिनर- (युजवेंद्र चहल, कुलदीप यादव)

कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल की स्पिन जोड़ी पिछले कुछ समय से सिमित ओवर क्रिकेट में टीम इंडिया की सफलता की कुंजी रही हैं. दोनों रिस्ट स्पिनरों के क्षमता है कि वह तेज गेंदबाजो की मददगार विकेट पर अपनी फिरकी से बल्लेबाजों को परेशान कर सकती हैं.

दक्षिण अफ्रीका में धमाल मचाने के बाद से कुलदीप-चहल की जोड़ी से इंग्लैंड में अच्छे प्रदर्शन की उम्मीदे काफी बढ़ गयी हैं.

तेज गेदबाज़- (जसप्रीत बुमराह, भुवनेश्वर कुमार)

भारतीय तेज गेंदबाज़ जसप्रीत बुमराह और भुवनेश्वर कुमार विश्व के दो सबसे सफल तेज गेंदबाजो में से एक रहे हैं. बुमराह आईपीएल के दौरान कुछ संघर्ष करते हुए दिखाई दिए थे, इसके बावजूद वह दुनिया के सबसे घातक डेथ ओवर गेंदबाज़ हैं. बुमराह का अनऑर्थोडॉक्स गेंदबाजी एक्शन हमेशा बल्लेबाजों के लिए परेशान का सबब रहा हैं.

आईपीएल में लगातार दो बार पर्पल जीतने के बाद भुवनेश्वर के लिए आईपीएल 11 अच्छा नहीं रहा. भुवनेश्वर ने सीजन के दौरान रन लुटाएं और उन्हें ज्यादा विकेट भी नहीं मिल पायें. इंग्लैंड और आयरलैंड की स्विंग विकेट पर भुवनेश्वर भारत के सबसे घातक गेंदबाज़ साबित हो सकते हैं.