24 वर्षीय तेज गेंदबाज़ जसप्रीत बुमराह वर्तमान में दुनिया के सबसे सफल तेज गेंदबाजो में शामिल हैं. सिमित ओवर क्रिकेट में बुमराह का अनऑर्थोडॉक्स गेंदबाजी एक्शन और सटीक लाइन लेंथ हमेशा बल्लेबाजों के लिए किसी बुरे सपने से कम नहीं रही हैं.

जब जसप्रीत बुमराह की हुई बड़ी गलती


आज के दिन वर्ष 2017 में भारत और पाकिस्तान के बीच लॉर्ड्स के ऐतिहासिक मैदान पर चैंपियन ट्राफी का फाइनल खेला गया था. इस मैच में पाकिस्तान ने पहले बल्लेबाजी की थी. इस दौरान पाकिस्तान की बल्लेबाजी के चौथे ओवर की पहली गेंद पर जसप्रीत बुमराह ने एक तेज गेंद डाली थी, जिस पर पाकिस्तानी सलामी बल्लेबाज़ फखर ज़मान महज 3 रन बनाकर विकेटकीपर धोनी के हाथो आउट हो गए थे, लेकिन ये बुमराह अंपायर ने नॉबल करार दी और ज़मान को एक जीवनदान मिला.

The comeback is always greater than the setback ????????????

A post shared by jasprit bumrah (@jaspritb1) on

इस नॉबाल पर मिले जीवनदान के बाद फखर ज़मान ने 106 गेंदों पर 114 रनों की पारी खेली और पाकिस्तान के स्कोर को 338 तक पहुँचाया. अगर बुमराह वो नॉबाल न डालते तो शायद इस मैच का नतीजा कुछ और हो सकता हैं. इस गलती के लिए बुमराह को ज़िंदगीभर मलाल रहेगा.

मैच का रोमांच

A post shared by Fakhar Zaman (@fakharzaman719) on

इस मैच में भारत के कप्तान विराट कोहली ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का फैसला किया था. जिसके बाद पाकिस्तान के सलामी बल्लेबाज़ अज़हर अली और फखर ज़मान ने पाकिस्तान को मजबूत और तेज शुरुआत दी. अजहर अली ने 71 गेंदों पर 59 रनों की पारी खेली, जबकि ज़मान ने 12 चौके और 3 छक्को की मदद से 114 रनों की यादगार पारी खेली. इसके आलावा मोहम्मद हफीज ने पारी एक अंत में सिर्फ 37 गेंदों पर 4 चौके और 3 छक्को की मदद से नाबाद 57 रन बनायें और अपनी टीम के स्कोर को 50 ओवरों में 338/4 तक पहुँचाया.

जवाब में, भारत की शुरुआत बेहद ख़राब रही और 54 रनों पर ही आधी टीम पवेलियन लौट गयी. हालंकि अंत में हार्दिक पंड्या ने 43 गेंदों पर 76 रनों की पारी जरुर खेली. लेकिन लक्ष्य इतना बड़ा था कि भारत को एक शर्मनाक हार झेलनी पड़ी. इस मैच भारत की टीम 30.3 ओवरों में महज 158 रनों पर ढेर हो गयी थी. जिसके कारण टीम इंडिया को 180 रनों की शर्मनाक हार झेलनी पड़ी थी.