टीम इंडिया के दिग्गज ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह मैदान पर अपने आक्रामक खेल के लिए जाने जाते रहे हैं. हालाँकि असल ज़िन्दगी में वह बेहद ही दिलखुश और दिलेर इंसान हैं. इसका इस उदहारण हाल में ही देखने को मिला. कुछ दिनों पहले हरभजन सिंह ने पंजाब अंडर16 टीम के पूर्व साथी खिलाड़ी हरमन हैरी के इलाज के लिए मदद के आगे आए. हरभजन सिंह के इस कदम की चौतरफा प्रसंशा हो रही है.

आंत की बीमारी से जूझ रहे है हरमन हैरी

Photo Source: Twitter

हरभजन सिंह ने जिस क्रिकेटर की मदद के लिए पहल की है वह खिलाड़ी हरमन हैरी पंजाब की अंडर16 टीम में हरभजन सिंह के साथ खेल चुके हैं. आंतों में फिस्टुला बढ़ जाने के कारण हैरी इन दिनों मौत से लड़ रहे हैं. हरभजन सिंह जैसे इसकी जानकारी मिली वह वैसे ही मदद के लिए आगे आएं.

हरभजन के साथी खिलाड़ी रहे है हरमन हैरी

Be proud #Bsports ⭐️⭐️⭐️⭐️⭐️

A post shared by Harbhajan Turbanator Singh (@harbhajan3) on

हरभजन सिंह और हरमन हैरी पंजाब अंडर16 टीम के लिए एक साथ खेले थे. 90 के दशक में दोनों ही खिलाडियों ने पंजाब के लिए एक साथ कई मैच खेले, हालाँकि हरभजन को अच्छे प्रदर्शन के बाद वर्ष 1998 में ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध डेब्यू का मौका मिला गया. जिसके कारण वह हैरी से अलग हो गए.

हैरी ने हरभजन सिंह से लगायी थी मदद की गुहार

can u read what my cap says ?? ????

A post shared by Harbhajan Turbanator Singh (@harbhajan3) on

एक दिन अचानक से भज्जी को हैरी का फोन आया और उन्होंने हरभजन को अपनी परेशानी बताते हुए उनसे कुछ आर्थिक रूप से मदद मांगी. इंडिया टुडे से ख़ास बातचीत के दौरान हरभजन सिंह ने हैरी के बारे में बताया, “हैरी को पैसों की जरूरत थी और मैंने उनसे सर्जरी के लिए कहा और इलाज में आने वाला पूरा खर्च उठाने का वादा किया. मानव जीवन की तुलना और कुछ अहम नहीं है.”   

हरभजन का हमेशा ऋणी रहूँगा

हरभजन द्वारा मदद करने के बाद हरमन का कहना है कि मैं अपनी ज़िन्दगी के लिए हमेशा भज्जी का ऋणी रहूँगा. भज्जी ने साबित कर दिया है कि सच्ची दोस्ती का महत्व क्या होता है. मेरे पास पैसे नहीं थे. पिछले एक साल से मेरा इलाज चल रहा है, जिसमे सभी पैसे खर्च हो गए. भज्जी ने मुझे मौत के मुंह से बाहर खिंच लिया हैं.