हम सब जानते है कि क्रिकेट मे लगातार प्रदर्शन करने पर ही उस खिलाड़ी को नेशनल टीम मे चुना जाता है।ऐसे मे सिर्फ गिने चुने खिलाड़ी ही है़ जिन्होने भारतीय टीम मे कई सालो से जगह बनाई हुई है और कुछ ऐसे खिलाड़ी भी है, जो अपने प्रदर्शन के कारण टीम से अंदर बाहर होते रहे है।अब आईपीएल एक ऐसा मंच बन गया है , जहां से नेशनल टीम के लिए कई दिग्गज , युवा और प्रतिभाशाली खिलाड़ी मिलते है।

आज के इस दौर मे हर कोई नेशनल टीम का हिस्सा बनना चाहता है।जो इस वक्त शानदार फोर्म मे चल रहे है, उन पर तो चयनकर्ताओं की पैनी नजर रहती है।लेकिन जो खिलाड़ी खराब फोर्म से जूझ रहे होते है, तो वह टीम से बाहर की कागार पर खड़े होते है।

आज हम एक ऐसे ही खिलाड़ी की बात करेगे जो अपनी फोर्म मे निरंतरता नही रख सका और टीम से अंदर बाहर होता रहा।हम बात कर रहे है विकेट कीपर बल्लेबाज दिनेश कार्तिक की, इन्होने इस आईपीएल शानदार प्रदर्शन कर टीम मे वापसी की दस्तक दी है।आईपीएल के इस सीज़न के बाद एक बार फिर चयनकर्ताओ ने इन्हे मौका दिया है।

Hipster and the nerd???? #charitymatch #Worldxi #lordscricketground

A post shared by Dinesh Karthik (@dk00019) on

18 मार्च 2018,निदहास ट्रॉफी का फाइनल तो सभी को याद होगा,यह वहीँ मैच है जिसमे एक समय पर ऐसा लग रहा था कि भारतीय टीम बांगलादेश से हार जाएगी।परंतु दिनेश कार्तिक ने ताबड़तोड़ पारी का नजारा दिखाते हुए मैच को भारत के नाम कर दिया था।इस मैच मे दिनेश कार्तिक ने 8 गेंदो पर 29 रन बनाए थे।

दिनेश कार्तिक ने अपने पहले टी-20 मैच मे मैंन ऑफ द मैच का खिताब हासिल किया था।इसके बावजूद इन्होने महज 20 टी-20 मैच खेले है।

इनका क्रिकेट करियर थोड़ासा दुर्भाग्यपूर्ण रहा है ।बात की जाए 1 दिसंबर 2006 की तो भारत और साउथअफ्रीका के बीच जोहानसबर्ग टी-20 मैच, जो भारत का पहला टी-20 मैच था।इसमे वीरेंद्र सहवाग कप्तानी करने नजर आए थे।

पहले बल्लेबाजी करते हुए दक्षिण अफ्रीका ने 126 रन बनाए थे।हालाँकि अब इस स्कोर की कोई गणगनना नही की जा सकती क्योँकि आज के दौर मे 200 रन भी कम है।उस समय यह स्कोर एक अच्छा स्कोर माना जाता था।

भारतीय टीम के सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने जोरदार शुरुआत दी थी।लेकिन इसके बाद दो जल्दी विकेट गिर गई थी।जिसकी वजह से भारतीय टीम बैकफुट पर चले गई थी।आज के दौर मे क्रिकेट के बादशाह कहलाने वाले धोनी भी उस वक्त शून्य पर आउट हो गए थे।

तो इस वक्त विकेट कीपर बल्लेबाज दिनेश कार्तिक ने शानदार तरीके से पारी को सँभाला और 28 गेंदो पर 31 रन की पारी खेलकर टीम को अहम जीत दिलवाई थी।इनकी स्यं भरी पारी के लिए इन्हे मैंन ऑफ़ द मैच दिया गया था।हालांकि दिनेश कार्तिक अपनी निरंतरता बनाए रखने मे नाकामयाब रहे।