भारतीय कप्तान विराट कोहली अगले महीने जून में लोकप्रिय इंग्लिश काउंटी क्लब सरे के साथ अपने पहले काउंटी कार्यकाल के लिए इंग्लैंड यात्रा करने के लिए तत्पर थे। प्रमुख भारतीय बल्लेबाज कोहली ने इंग्लैंड में अपने रिकॉर्ड को बेहतर बनाने और इंग्लैंड के आधिकारिक दौरे से पहले अच्छी तरह तैयार होने का यह बड़ा फैसला लिया था। जहां भारतीय टीम 3 टी 20, 3 वनडे और 5 टेस्ट मैच खेलेगी। हालांकि, खबरो के मुताबिक कोहली स्लिप डिस्क की वजह से डेब्यू काउंटी क्रिकेट के लिए उपलब्ध नही रहेगे ।

#Repost @puma #One8 #ComeOutAndPlay

A post shared by Virat Kohli (@virat.kohli) on

इसी बीच बीसीसीआई ने यह ऑफिशियल स्टेटमेंट जारी कर बता दिया था कि कोहली अपनी चोट के कारण काउंटी क्रिकेट मे भाग नही ले पाएगे।जारी की गई स्टेटमेंट के मुताबिक विराट कोहली का 15 जून को फिटनेस टेस्ट होना है ।इसी फिटनेस टेस्ट से पता चलेगा कि कोहली कप्तान के रुप मे इंग्लैंड दौरे के लिए मौजूद रहेगे या नही।फिटनेस टेस्ट से एक महीने पहले कोहली अपनी दैनिक ट्रेनिंग कर रहे है।

कोहली अपनी इस चोट की वजह से 5 काउंटी क्रिकेट वनडे मैच और चार दिवसीय फर्स्ट क्लास मैच को खेल पाने मे असमर्थ रहेगे।यह सब इनकी डील मे मौजूद था।इसके अलावा 14 जून से अफगानिस्तान के खिलाफ बैंगलुरु मे खेले जाने वाले एकमात्र टेस्ट मैच मे भी इनका नाम शामिल नही किया गया था।लेकिन काउंटी और आयरलैंड के खिलाफ होने वाले टी-20 मैच मे क्लैश की वजह से यह आयरलैंड वाला मैच नही खेल पाएगे।

Can't do weights yet but can run instead! ???????? Find a way even on a Sunday! ????

A post shared by Virat Kohli (@virat.kohli) on

पिछले 12 महीनो से भारतीय कप्तान विराट कोहली ने लगातार क्रिकेट खेला है और इसका नतीजा स्लिप डिस्क के रुप मे आया है।इस चोट के बारे मे देश के सबसे उच्च स्तरीय ऑर्थोपेडिक सर्जन ने बताया है। डॉक्टरों ने कोहली को बताया कि रीढ़ की हड्डी में कुछ नुकसान हुआ है, और अगर ऐसा हुआ तो जुलाई से शुरू होने वाले इंग्लैंड दौरे मे इन्हे कुछ मैचो को मिस करना पड़ सकता है। हालांकि, डॉक्टर निश्चित थे कि कोहली को इस चरण में सर्जरी की आवश्यकता नहीं थी।

Have a great day everyone. Make the most of it! ????

A post shared by Virat Kohli (@virat.kohli) on

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक कोहली अपनी इस चोट से जून के मध्य तक ठीक हो जाएगे।टाइम्स ऑफ़ इंडिया से ही बीसीसीआई के एक अधिकारी ने बात करते हुए कहा है कि सरे एक विकल्प था; इंग्लैंड दौरे एक जिम्मेदारी है। जब भी उन्हे आराम की ज़रूरत होती है तो उन्हे ब्रेक दे दिया जाता है। यही कारण है कि वह दक्षिण अफ्रीका में आखिरी टी -20 से बाहर बैठे और निदाहस ट्रॉफी में नहीं खेल पाए। यह दिखाता है कि प्राथमिकताएं अच्छी तरह से हैं। यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि विराट सरे के लिए नहीं जा सका लेकिन समय पर पूरी तरह से ठीक हो रहा है और यही एक अधिक महत्वपूर्ण बात है।