शर्मनाक हार के बाद निराश दिनेश कार्तिक ने इसे ठहराया हार के लिए ज़िम्मेदार

आईपीएल 2018 का 41वा मुकाबला कोलकत्ता नाइट राइडर्स और मुंबई इंडियंस के बीच खेला जा चुका है।यह मैच एक बार फिर कोलकत्ता के ईडन गार्डनस मे खेला गया था।

इस मैच का टॉस केकेआर की टीम ने जीता था और पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया था।पहले बल्लेबाजी करते हुए एक बार फिर मुंबई इंडियंस के सलामी बल्लेबाज सूर्यकुमार यादव ने शानदार पारी खेली।सूर्यकुमार यादव ने 32 गेंदो पर 36 रन बनाए।इनके साथ लेविस सस्ते मे आउट होकर पैवेलियन लौट गए थे।

इसके बाद रोहित शर्मा और ईशान किशन ने मोर्चा संभाला और पारी को धीरे धीरे आगे बढ़ाया।युवा विकेट कीपर ईशान किशन ने आज दमदार पारी खेलकर सबको प्रभावित किया ।इन्होने आईपीएल 2018 का दूसरा सबसे तेज अर्धशतक लगाया ।इन्होने 21 गेंदो पर 62 रन की शानदार पारी खेली।

इनके साथ रोहित शर्मा एन 31 गेंदो पर 36 रन की पारी खेली और अंत मे बेन कटिंग ने 9 गेंदो पर 24 रन बनाए। जिस वजह से मुंबई इंडियंस ने निर्धारित 20 ओवर मे  6 विकेट खोकर 210 रन बनाए ।

लक्ष्य का पीछा करने उतरी कोलकत्ता नाइट राइडर्स की टीम ने अपनी प्रशंसको को काफी निराश किया।पहले ओवर मे ही सुनील नारायण के रुप मे कोलकत्ता नाइट राइडर्स की पहली विकेट गिर गई थी।क्रिस लिन अच्छी टच मे लग रहे थे लेकिन दुर्भाग्यवश यह 21 रन के निजी स्कोर पर आउट हो गए।

कोलकत्ता नाइट राइडर्स कुछ यू बल्लेबाजी कर रही थी जैसे कोई स्कूल का टूर्नामेंट चल रहा है।कोलकत्ता नाइट राइडर्स के बल्लेबाज आया राम और गया राम बने हुए थे।कोलकत्ता नाइट राइडर्स ने खराब बल्लेबाजी तो की ही है ।साथ मे मुंबई इंडियंस के सभी गेंदबाजो ने अपना दमदार प्रदर्शन दिखाया है।सभी गेंदबाजो ने अपना योगदान दिया है।

कोलकत्ता नाइट राइडर्स के बल्लेबाज तो आज ड्रेसिंग रूम से घोड़े पर सवार होकर आ रहे थे।कोलकत्ता नाइट राइडर्स की बल्लेबाजी महज 108 रन पर ही ढेर हो गई।मुंबई इंडियंस को 102 रन से यह जीत मिली।यह बड़ी जीत इनके लिए बाद मे अहम साबित होगी।

एक बड़ी हार के बाद दिनेश कार्तिक ने दिया बड़ा बयान,

कार्तिक ने कहा, “200 रन का लक्ष्य हासिल करना हमेशा कठिन होता है. हमने ख़राब बल्लेबाजी की. यदि हम फिल्डिंग के दौरान कैच नहीं छोड़ते तो शायद नतीज़ा कुछ और हो सकता था. आप अगर बल्लेबाजी के दौरान पॉवरप्ले में विकेट गंवा देते हैं, तो इससे आपके ऊपर काफी दबाव आ जाता है.” “मैच में पॉवरप्ले के बाद से ही हम मैच में पिछड़ गये थे. हम सिर्फ साधारण खेल खेल रहे थे.

हम अपनी गलतियों से सीखकर आगे बढेंगे. हमें अपनी कुशलता को और अधिक विकसित करना होगा, जोकि काफी महत्वपूर्ण और ज़रूरी हैं. इस तरह की बड़ी हार से मनोबल गिरता है. मुझे कठिन में ईमानदारी से टीम के साथ खड़े रहना पड़ेगा. हमें खुद में भरोसा रखना होगा, कि हम प्लेऑफ में जा सकते हैं.”