आईपीएल 2018 में खराब प्रदर्शन के बाद टीम इंडिया से इन खिलाड़ियों की होगी छुट्टी

आईपीएल क्रिकेट की सबसे बड़ी लीग है, जिसे विश्व के करोड़ों लोग पसंद करते है ।य्ज्वा खिलाड़ियों के लिए यह एक बहुत अच्छा प्लेटफोर्म है , जहा से यह खिलाड़ी नेशनल टीम मे जगह पा सकते है।युवा खिलाड़ियों के साथ साथ सीनीयर खिलाड़ियों के पास भी फोर्म मे लौटने का मौका होता है।

एक खिलाड़ी जो पहले से ही राष्ट्रीय सेटअप का हिस्सा है, या चयनकर्ताओं के रडार में, खराब आईपीएल प्रदर्शन के कारण प्रशासकों का ध्यान खो सकता है।

आईपीएल 2018 का लगभग आधा सत्र खत्म हो चुका है और ऐसे मे कुछ भारतीय टीम के खिलाड़ी है जो बिल्कुल भी अच्छी फोर्म मे नही दिख रहे है। आज हम ऐसे ही पाँच खिलाड़ियों की बात करेगे जो भारतीय टीम से अपनी जगह गँवा सकते है:-

  • मनीष पाँडे

मनीष पांडे वर्तमान में भारतीय क्रिकेट के सबसे प्रतिभाशाली खिलाड़ियों में से एक हैं और वह खेल के छोटे प्रारूपों में भारतीय टीम का भी हिस्सा हैं। यह मध्य क्रम में खेलते हैं और नीलामी मे सबसे अधिक मांग वाले खिलाड़ियों में से एक थे।

किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ खेली गई शानदार पारी मे भी इनके किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाड़ियों ने 3 कैच ड्रॉप किए थे। इन्होंने 113 की स्ट्राइक रेट से 7 मैचों में केवल 142 रन बनाए हैं।हैदराबाद मुख्य बल्लेबाजी के बारे में चिंता क्यों कर रहे हैं, इसका मुख्य कारण यह है कि क्योंकि यह महत्वपूर्ण मौकों पर टीम के लिए असफल रहे हैं।

  • मोहम्मद शमी

पिछले कुछ महीनों से मोहम्मद शामी के लिए सूरज चमकदार नहीं रहा है। एक मामूली सड़क दुर्घटना के बाद आईपीएल की शुरुआत से पहले व्यक्तिगत विवादों और सिर्फ फिट होने के लिए निजी विवादों से जूझ रहे थे। भारतीय गेंदबाज शमी को जल्द ही सीमित ओवरों की भारतीय टीम से निकाला जा सकता है।

पहले चार मैचों में 10.40 की महंगी इकॉनॉमी रेट और 48 के अस्वीकरीय औसत से केवल तीन विकेट लेने के बाद, शामी ने दिल्ली प्रबंधन का विश्वास खो दिया है और ऐसा लगता है कि वे उन्हें बाकी बचे मैचो के लिए शामिल नही करेंगे ।

  • अक्षर पटेल

2018 की नीलामी से पहले अक्षर पटेल किंग्स इलेवन पंजाब द्वारा रिटेन किए गए एकमात्र खिलाड़ी थे। हालांकि टूर्नामेंट में नए नियुक्त कप्तान अश्विन को एक विजेता फॉर्मूला मिला जिसमे बाएं हाथ के ऑलराउंडर को शामिल नहीं किया गया है।इन्होने इस सीज़न में काफी निराश प्रदर्शन किया है।

  • वाशिंगटन सुंदर

18 वर्षीय वाशिंगटन सुंदर आईपीएल 2018 में एक सभ्य प्रतिष्ठा के साथ आए थे। तमिलनाडु प्रीमियर लीग को समाप्त करने से पहले 2017 में राइजिंग पुणे सुपरर्जियंस के साथ इनका पहला सफल सत्र था क्योंकि यह सबसे ज्यादा रन-गेटर के साथ-साथ दूसरे सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले खिलाड़ी थे।

हाल ही में समाप्त हुई निदाहस ट्रॉफी में इन्हें मैन ऑफ़ द सीरीज़ के खिताब से नवाज़ा गया था।आरसीबी ने इन्हे 4 करोड़ रुपय देकर खरीदा था।इन्होने इस सीज़न मे ज्यादा प्रभाव नही डाला है।बल्कि इन्हे आरसीबी ने अब टीम मे शामिल भी नही किया है।

  • जयदेव उनादकट

2018 की नीलामी में ₹ 11.5 करोड़ के मूल्य टैग के साथ, जयदेव उनादकट चंद्रमा पर थे क्योंकि वह लीग के इतिहास में सबसे ज्यादा बोली वाले भारतीय गेंदबाज बन गए थे।

एक कमजोर श्रीलंकाई संगठन के खिलाफ टी 20 श्रृंखला में श्रृंखला के मैन ऑफ द सीरीज़ बने थे। टूर्नामेंट में आकर आईपीएल 2017 के दूसरे सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले खिलाड़ी भी थे।इन्होने 12 मैचो में में 24 24 विकेट हासिल की थी।लेकिन इस सीज़न मे प्रदर्शन काफी विपरीत है और यह सबको निराश कर रहे है।