अजिंक्य रहाणे ने सीधे तौर पर इन्हें ठहराया राजस्थान की शर्मनाक हार का जिम्मेदार

कल खेले गए राजस्थान रॉयलस और कोलकत्ता नाइट राइडर्स के मौच मे भी अन्य 14 मुकाबलो की तरह कप्तान ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का फैसला किया।यह टॉस दिनेश कार्तिक ने जीता था।

अपने होम ग्राउंड स्वाई मान सिंह स्टेडियम जयपुर मे राजस्थान रॉयलस ने पहले बल्लेबाजी करते हुए निर्धारित 20 ओवरो मे 160 रन बनाए थे।कप्तान रहाणे ने 19 गेंदो का सामना करते हुए शानदार 36 रन बनाए थे।परंतु यह अपनी पारी को ओर देर तक नही चला पाए।

इनके अलावा शॉर्ट ने 43 रन की धीमी पारी खेली और अंत मे बटलर ने 22 रन की काफी आक्रामक पारी खेली।लक्ष्य का पीछा करने उतरी कोलकत्ता नाइट राइडर्स की टीम की शुरुआत बेहद खराब हुई , क्योँकि पहले ही ओवर मे क्रिस लिन शून्य रन पर पैवेलियन लौट गए थे।इसके बाद नारायण और उथप्पा ने टीम के लिए 70 रन की साझेदारी कर टीम को सँभाला।

राजस्थान रॉयलस के कप्तान आजिंक्य रहाणे की विकेट की बात करे तो इनका विकेट 7वे ओवर की पांचवी गेंद मे आया था।यह ओवर नितीश राणा फेंक रहे थे।रहाणे आगे बढ़कर राणा की गेंद पर शॉट खेलना चाहते थे।लेकिन राणा ने चतुराई का नजारा दिखाते हुए रहाणे से यह गेंद मिस करवाई।यह गेंद रहाणे के बैट और पैड पर लगकर सीधा दिनेश कार्तिक के पास चले गई।

नारायण 35 रन बनाकर आउट हुए और इनके आउट होने के बाद उथप्पा भी 48 रन बनाकर आउट हो गए थे।इनके आउट होने के बाद नितीश राणा और दिनेश कार्तिक ने 61 रन की शानदार साझेदारी कर कोलकत्ता नाइट राइडर्स को 7 विकेट से अहम जीत दिलाई।

राजस्थान रॉयलस की हार के बाद कप्तान अजिंक्य रहाणे ने कहा कि मुझे लगता है कि हम 15-20 रन कम थे. टी-20 क्रिकेट में हमेशा से ही आप 180 रन नही बना सकता है. इस फॉर्मेट में फील्डिंग हमेशा से ही महत्वपूर्ण है. आज हमारी फील्डिंग ने हमे डाउन किया है. मुझे लगता है कि इस विकेट पर 175-180 रन बनने चाहिए थे. मुझे आज अच्छी शुरुआत मिली थी, ये मेरी जिम्मेदारी है कि मुझे टीम को आगे ले जाना है

टीम के खिलाड़ियों को लेकर रहाणे ने कहा है कि मैं हमेशा से ही अपने खिलाड़ियों को बैक करता हूँ. इस फॉर्मेट में आप को अपने खिलाड़ियों को बैक करना होता है. कभी आप को जीत मिलती है, कभी नही. मैं आने वाले मैचों में भी किसी भी तरह का कोई भी बदलाव नही करूँगा।