स्टार खिलाड़ी मनीष पांडेय ने इन्हें दिया ऐतिहासिक जीत का श्रेय…

निदहास ट्रॉफी के चौथे मैच में पहले बल्लेबाजी करते हुए श्रीलंकाई बल्लेबाज़ कुछ खास नही कर पाए और 152 रन बनाने मे ही समर्थ रहे।श्रीलंका की तरह से सलामी बल्लेबाज कुसल मेंडीस ने बेहतरीन 55 रन की पारी खेली, जिसकी बदौलत श्रीलंकाई टीम सम्मानजनक स्कोर बना पाई।

वही भारतीय टीम की गेंदबाजी पर नजर डाले तो शार्दुल ठाकुर ने अपने 4 ओवर मे 27 रन देकर 4 विकेट हासिल किए।इनके अलावा वाशिंगटन सुंदर ने भी शानदार प्रदर्शन किया और अपने कोटे के 4 ओवर करवाते हुए 2 विकेट हासिल किए और सिर्फ 21 रन दिए।

153 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम को उम्मीद थी कि आज रोहित शर्मा अपना जादू चलाएगे।परंतु एक बार फिर रोहित शर्मा ने सबको निराश किया और महज 11 के स्कोर पर पैवेलियन लौट गए।इसके बाद आज धवन भी ज्यादा कुछ नही कर पाए और महज 8 रन पर धननज्य की गेंद पर आउट हो गए।

आज रोहित शर्मा ने ऋषभ पंत की जगह के एल राहुल को मौका दिया था।के एल राहुल अच्छे टच मे दिख रहे थे।परंतु यह बदकिस्मती से जीवन मेंडीस की गेंद पर सिर्फ 18 रन पर हिट विकेट हो गए।इनसे पहले सुरेश रैना ने अपनी विकेट गंवाई थी।जो आज काफी आक्रामक लग रहे थे।रैना ने महज 15 गेंदो पर 2 चौके और 2 छक्को की मदद से 27 रन बनाए थे।

इसके बाद मनीष पाँडे और दिनेश कार्तिक ने भारतीय टीम को अंत तक पहुँचाया और शानदार तरीके से जीत दिलाई।भारतीय टीम ने शानदार तरीके से 17.3 ओवर मे 6 विकेट हाथ मे राहते हुऐ जीत हासिल कर ली ।मनीष पाँडे ने शानदार तरीके से बल्लेबाजी करते हुए 31 गेंदे खेलते हुए 42 रन बनाए और दिनेश कार्तिक ने 25 गेंदे खेलते हुए 39 रन की पारी खेली।

42 रन की अहम पारी खेलने वाले मनीष पाँडे ने मैच के बाद कहा कि मुझे लगता है कि पारी के अंत में हमने एक अच्छी साझेदारी की और हमने श्रीलका के गेंदबाजों के खिलाफ कुछ प्लान्स बनाए थे| नंबर 5 पर बल्लेबाज़ी करने की वजह से मुझे आखिर तक बल्लेबाज़ी करनी थी|

पहले गेम के बाद जिस तरह से गेंदबाजों ने वापसी की है वो शानदार है। हमारे पास इस मैच को लेकर बड़े प्लान थे और हमने उन्हें सही से मैदान पर उतारा है। नंबर 6 और 7 पर बल्लेबाज़ी करते समय ज्यादा बल्लेबाज़ी करने का मौका नही मिलता है, लेकिन हम खुश है कि मुझे कार्तिक के साथ साझेदारी करने का मौका मिला और हमने दबाव में अच्छा किया।