बीवी से ‘बेवफाई’ की मिली शमी को सजह.. लगी 3 करोड़ की चपत.

हम सब जानते है इस समय मोहम्मद शमी अपनी पत्नी द्वारा लगाए गए गंभीर आरोपो की वजह से सुर्खियों मे है ।बीसीसीआई ने नए वेतन स्ट्रक्चर से भी मोहम्मद शमी को दूर रखा है और अब इनको एक ओर झटका लगने की उम्मीद है ।

अब ऐसा प्रतीत हो रहा है कि मोहम्मद शमी का क्रिकेटिंग करियर डूबता जा रहा है।आईपीएल 2018 के लिए शमी पर संकट के बादल मंडरा रहे है ।हाल ही मे मोहम्मद शमी की पत्नी ने इनपर तरह तरह के गंभीर आरोप लगाए है ।

जैसे कि दूसरी महिलाओ के साथ नाजायज संबंध का आरोप, घरेलू हिंसा और कल तो मैच फिक्सिंग का भी आरोप लगाया है।

शमी की पत्नी ने तेज गेंदबाज पर बहुत से आरोप लगाए थे लेकिन भारतीय तेज ने इन सभी आरोपों को खारिज कर दिया है।शमी ने कहा है कि उन्हें इसके बारे में कोई जानकारी नहीं है और वे अपनी पत्नी द्वारा लगाए गए इन सभी आरोपों के बारे में पता करने की कोशिश करेंगे। शमी ने कहा है कि उनकी अपनी सास के साथ बात हुई है और उन्होने बहुत ही अच्छे से बात की है।

कोलकाता पुलिस के संयुक्त आयुक्त ने पुष्टि की है कि शमी की पत्नी हसीन जहां ने कोलकाता के जाधवपुर पुलिस थाने में अपने पति के खिलाफ लिखित शिकायत दर्ज कराई है। शमी के खिलाफ लगाए गए अन्य आरोप धारा 307 के तहत हैं – हत्या का प्रयास, धारा 323 – स्वेच्छा से चोट लगी है, धारा 376 -बलात्कार, धारा 50 – आपराधिक धमकी।

इसके अलावा, शमी के परिवार में चार सदस्य हैं, जिनके खिलाफ शिकायत दर्ज की गई है। शमी की पत्नी ने बताया था कि तेज गेंदबाज के परिवार ने शादी के बाद उसके साथ बुरी तरह व्यवहार किया था और परिवार पर शारीरिक शोषण का आरोप लगाया है।

आईपीएल निलामी मे दिल्ली डेयरडेविल्स ने इन्हे 3 करोड़ रुपयो मे खरीदा था ।लेकिन अब पत्नी द्वारा लगाए गए आरोपो के बाद शमी के लिए आईपीएल मे खेलने के भी दरवाजे बंद होते नजर आ रहे है।

आप सब की जानकारी के लिए बता दे कि दिल्ली डेयरडेविल्स की टीम आईपीएल 2018 के लिए तैयारियो के लिए कैप में जुट गई है ।अबतक यह तय नही हो पाया है कि शमी इस कैंप मे हिस्सा लेगे या नही ।दिल्ली डेयर डेविल्स का टीम मैंनेजमेंट कोई भी फैसला लेने से पहले एक बार बीसीसीआई से मदद के लिए सलाह मशवहरा माँग रहा है ।

टीम मैंनेजमेंट का कहना है कि टूर्नामेंट मे हिस्सा ले रहे सभी खिलाड़ियों का तीन हिस्सो मे कॉन्ट्रेक्ट होता है ।जिसमे बीसीसीआई,फ्रैंचाईज़ी और खिलाड़ी शामिल है ।इस कॉन्ट्रैक्टमे खिलाड़ियों की बदनामी से जुड़ा क्लोज भी होता है ।

हाल ही मे प्रदर्शन को देखते हुए अगर बीसीसीआई इन्हे कॉन्ट्रैक्ट मे शामिल करती तो यह ज्यादा से ज्यादा बी ग्रुप मे शामिल होते ।यानि इन्हे 3 करोड़ रुपय दिए जाते ।अब ऐसा नही हुआ है तो यकीनन इन्हे 3 करोड़ का एक बड़ा झटका लगा है ।

IPL करियरः

मैच विकेट बेस्ट इकोनॉमी
39 23 2/20 8.96
8 (IPL 2017) 5 2/36 9.34

 

क्रिकेट करियरः

फॉर्मेट मैच विकेट बेस्ट इकोनॉमी
टेस्ट 30 110 9/118 3.38
वनडे 50 91 4/35 5.48
टी20 7 8 3/38 10.56