जानिए कौन है ये बदनसीब खिलाड़ी जो अपने टीम के आल आउट होने के चककर में रह गया 299 पर नॉट आउट.

0
557

आज के युग मे क्रिकेट सब के दिल की जान बन चुका है , क्रिकेट खेल ने सबका आकर्षण अपनी ओर खींचा हुआ है । दिन पर दिन क्रिकेट पप्रेमियो की बढ़ोतरी होती जा रही है , सिर्फ इतना ही नही बल्कि दिन पर दिन क्रिकेट का रोमांच हर जगह बढ़ता जा रहा है और यह मनोरंजन का एक जरिया बन गया है।

क्रिकेट जगत मे हमने कई रिकॉर्ड बनते देखे है और कई रिकॉर्ड टूटते देखे है । आज के दौर मे क्रिकेट सबके लिए एक मनोरंजन बन ग्या हैं | हार देश मे क्रिकेट का ही बोल बाला है । चाहे बच्चा हो या बूढ़ा हर कोई क्रिकेट खेलना और देखना दोनो ही पसंद करता है । क्रिकेट मे हमने कई करिश्माई चीज़े देखी है , जैसे कि सुपर मैंन कैच, इत्यादि।

आज के युग मे क्रिकेट सब के दिल की जान बन चुका है , क्रिकेट खेल ने सबका आकर्षण अपनी ओर खींचा हुआ है । दिन पर दिन क्रिकेट पप्रेमियो की बढ़ोतरी होती जा रही है , सिर्फ इतना ही नही बल्कि दिन पर दिन क्रिकेट का रोमांच हर जगह बढ़ता जा रहा है और यह मनोरंजन का एक जरिया बन गया है।

क्रिकेट जगत मे हमने कई रिकॉर्ड बनते देखे है और कई रिकॉर्ड टूटते देखे है । आज के दौर मे क्रिकेट सबके लिए एक मनोरंजन बन ग्या हैं | हार देश मे क्रिकेट का ही बोल बाला है । चाहे बच्चा हो या बूढ़ा हर कोई क्रिकेट खेलना और देखना दोनो ही पसंद करता है । क्रिकेट मे हमने कई करिश्माई चीज़े देखी है , जैसे कि सुपर मैंन कैच, इत्यादि।

आखिर क्रिकेट अनिश्चिकताओ का खेल है , इस खेल मे कुछ भी संभव है । नामुमकिन चीज़ भी इस खेल मे हो सकती है ।हर व्य्क्ति क्रिकेट और क्रिकेट से जुड़ी हर बात को जानना चाहते है ।आज हम आपके सामने ऐसे बल्लेबाज के बारे मे बताएगे जो 299 रन पर आउट पर नाबाद रहे पर इनके साथी खिलाड़ी आउट हो गए।

यह किसी भी खिलाड़ी के लिए दुखद खबर होती है कि अगर वह 99,199 या 299 रन पर आउट हो जाए या फिर इनके सारे साथी खिलाड़ी आउट हो जाए।जिस खिलाड़ी की हम बात कर रहे है वह खिलाड़ी और कोई नही सर ब्रैडमेन है ।

डॉन ब्रैडमेन के साथ ऐसा ही हुआ था , इनकी टीम ऑल आउट हो गई थी और यह 299 रन पर ऑल आउट हो गए थे।डॉन ब्रैडमेन ने अपने टेस्ट करियरमे दो तिहरे शतक लगाए है और वह इस मैच मे भी 1 रन से चूक गए थे।तो वह विश्व क्रिकेट मे तीन तिहरे शतक लगाने वाले पहले खिलाड़ी बनते।

डॉन ब्रैडमेन ने अपने टेस्ट करियर का आगाज 30 नवंबर इंग्लैंड के खिलाफ किया था।डॉन ब्रैडमेन ने अपने टेस्ट करियर मे 52 टेस्ट खेले है और इस दौरान इन्होने 80 पारिया खेलते हुए 99.94 की धमाकेदार औसत से 6996 रन बनाए है ।इनका सर्वादिक स्कोर 334 रन रहा है जिसमे इन्होने 29 शतक और 13 अर्धशतक लगाए है ।

आप सभी की जानकारी के लिए बता दे कि अगर यह अंतिम मैच मे 4 रन बना लेते तो यह दुनिया के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज बन जाते जिनकी औसत 100 हो जाती ।दुर्भाग्यवश यह अपने अंतिम मैच मे 0 रन पर आउट हो गए थे।सर डॉन ब्रैडमेन ने अपना अंतिम मैच 14 अगस्त 1948 को इंग्लैंड के खिलाफ खेला था।