भारतीय कप्तान विराट कोहली ने इन्हें दिया ऐतिहासिक जीत का श्रेय…

भारत और साउथ अफ्रीकेए के बीच जोहानसबर्ग मे खेला गया तीसरा और अंतिम टेस्ट मैच भारत ने 63 रन से जीत लिया है ।श्रंखला का तीसरा और अंतिम मैच बहुत ही दिलचस्प हुआ , जिसमे भारतीय गेंदबाजो का बहुत अच्छा प्रदर्शन रहा।भारतीय बल्लेबाजो का इस श्रंखला मे शुरु से ही बेहद खराब प्रदर्शन रहा है ।

भारत ने पहली पारी मे 187 रन बनाए’ थे, जिसके जवाब मे साउथ अफ्रीका ने सिर्फ 7 रन अधिक बनाए और 194 रन ही बना पाए।इसके बाद दूसरी पारी मे भारत ने थोड़ा बेहतर खेला और 247 रन बनाए ।इस लक्ष्य का पीछा करने उतरी साउथ अफ्रीका की टीम महज 177 रन पर ही ऑल आउट हो गई ।मोहम्मद शमी ने शानदार गेंदबाजी करवाई और साउथ अफ्रीका के 5 बल्लेबाज़ों को पैवेलियन भेजा।

भारतीय गेंदबाजो का जलवा पहली बार देखने को नही मिला है , बल्कि इस श्रंखला मे हर बार भारतीय गेंदबाजो ने अपने आप को साबित किया है।श्रंखला की शुरुआत से ही भारतीय गेंदबाजो ने जमकर मेहनत की थी और साउथ अफ्रीका के बल्लेबाजो को अपनी स्विंग, उछाल और वेरियंस से बहुत तंग किया था।

यह मैच जीतकर श्रंखला के परिणाम पर कोई असर नही पड़ेगा, परंतु एकदिवसिय श्रंखला शुरु होने से पहले यह जीत भारतीय टीम का आत्मविश्वास जरुर बढ़ाएगी।भारत की इस जीत के हीरो भुवनेश्वर कुमार रहे जिन्होने ना ही सिर्फ बल्ले से साउथ अफ्रीका के गेंदबाजो को परेशान किया बल्कि अपनी स्विंग और तेज थरार गेंदबाजी से साउथ अफ्रीका के बल्लेबाजो के नाक मे दम कर के रखा था।

मैच के बाद विराट कोहली ने बयान दिया है कि “हमें इस पिच पर अपना किरदार दिखाने की आवश्यकता थी, क्योंकि यह पिच बहुत मुश्किल थी, लेकिन हमारे खिलाड़ियों ने बड़ी हिम्मत दिखायी है। हमारी सीरीज में बल्लेबाजी अच्छी नहीं रही थी, लेकिन श्रृंखला समाप्त होने के बाद खिलाड़ियों ने अपना चरित्र दिखाया है और इसलिए टीम को इसके लिए सलाम किया जा सकता है।”

“यह एक अजीब गेम है इसमें आप बल्लेबाजों को आउट करने के लिए कई तरह से विचार कर सकते हो। दबाव की स्थितियों में आमला और एल्गर ने अच्छा प्रदर्शन किया, जब टेस्ट क्रिकेट में विकेट गिरते रहते हैं,तो किसी भी टीम के लिए मैच में वापस आना बहुत कठिन होता है।”

आगे बढ़ते हुए विराट कोहली ने कहा कि “गेंदबाज हमारे लिए इस सीरीज में सबसे ज्यादा सकारात्मक थे, क्योंकि उन्होंने पुरे 60 विकेट निकाले है। हमने अतीत में कभी 60 विकेट नहीं लिए हैं। हमने सीरीज में कुछ गलतियाँ की, लेकिन इन गलतियों को अब ठीक करना चाहते है। हमारे निचले क्रम ने भी शानदार प्रदर्शन किया है और अपना शानदार चरित्र दिखाया है। यह जीत बहुत महान लगती है, बल्लेबाजों के रूप में, अगर हम बेहतर करते है तो हम अपने घर के बाहर कही भी जीत सकते है।”