ये है क्रिकेट जगत का सबसे ईमानदार खिलाड़ी, अम्पायर के आउट दिए बिना 12 बार लौट चूका है पवेलियन.

0
1703

आज के युग मे क्रिकेट सब के दिल की जान बन चुका है , क्रिकेट खेल ने सबका आकर्षण अपनी ओर खींचा हुआ है । दिन पर दिन क्रिकेट पप्रेमियो की बढ़ोतरी होती जा रही है , सिर्फ इतना ही नही बल्कि दिन पर दिन क्रिकेट का रोमांच हर जगह बढ़ता जा रहा है और यह मनोरंजन का एक जरिया बन गया है।

(AP Photo/Themba Hadebe)

क्रिकेट जगत मे हमने कई रिकॉर्ड बनते देखे है और कई रिकॉर्ड टूटते देखे है । आज के दौर मे क्रिकेट सबके लिए एक मनोरंजन बन गया हैं | हार देश मे क्रिकेट का ही बोल बाला है । चाहे बच्चा हो या बूढ़ा हर कोई क्रिकेट खेलना और देखना दोनो ही पसंद करता है । क्रिकेट मे हमने कई करिश्माई चीज़े देखी है , जैसे कि सुपर मैंन कैच, इत्यादि।

आखिर क्रिकेट अनिश्चिकताओ का खेल है , इस खेल मे कुछ भी संभव है । नामुमकिन चीज़ भी इस खेल मे हो सकती है ।हर व्यक्ति क्रिकेट और क्रिकेट से जुड़ी हर बात को जानना चाहते है । क्रिकेट को जैंटलमैं गेम बताया जाता है और हर खिलाड़ी स्पोर्ट्समैंन शिप से खेलता है ।

मैदान पर खिलाड़ियों के साथ साथ अंपायर भी खड़े होते है , जो निर्णय सुनाते है । सारे मैच मे उनके निर्णय को सभी खिलाड़ी मानते है । ऐसे मे कभी कभी अंपायरस से भी गलती हो जाती है, जैसे कि बल्लेबाज के बल्ले से एज निकला और अंपायर ने आउट नही दिया।तो इस परिस्थिति मे कुछ खिलाड़ी तो अंपायर के कहने पर मैदान पर ही रहते है परंतु कुछ खिलाड़ी ऐसे होते है जो अपने आप आउट मान लेते है और पैवेलियन चले जाते है ।असल मे यही स्पोर्ट्समैंन शिप है।

भारतीय खिलाड़ियों मे से बात करे तो सचिन , धोनी समेत कई अन्य खिलाड़ियों ने खुद को आउट माना है , जब अंपायर गलती से इन्हे आउट नही देते ।लेकिन इसी बीच एक ऐसा खिलाड़ी है जिसने यह कारनामा एक या  दो बार नही बल्कि 12 बार किया है ।

यह खिलाड़ी ओर कोई नही ऑस्ट्रेलिया का पूर्व विकेट कीपर बल्लेबाज एडम गिलक्रिस्ट है ।ऑस्ट्रेलिया हमेशा से ही मैदान पर बेइमानी के लिए जानी जाती है , लेकिन इसी बीच पूर्व सलामी बल्लेबाज एडम गिलक्रिस्ट ने इस बात को गलत ठहराया है ।

इन्होने अपने करियर के दौरान कई बार ऐसा किया है कि जब अंपायर को पता नहीं चल पाया कि इनके बल्ले से एज लगा है परंतु फिर भी अंपायर इन्हें नॉट आउट करार दे देते है, लेकिन गिलक्रिस्ट अपने-आप ही पवेलियन की तरफ चले जाया करते थे। यह इसलिए पैवेलियन जाते है क्योँकि इनको पता होता है कि यह आउट है।

ऑस्ट्रेलिया के इस खतरनाक विकेटकीपर बल्लेबाज एडम गिलक्रिस्ट के करियर में ऐसी घटना कुल 12 बार हुई है। मतलब अपने करियर में 12 बार खुद आउट मान कर यह पैवेलियन लौटे थे। ये अपने आप में एक बहुत अनोखा और महान रिकॉर्ड हैं। ये रिकॉर्ड दर्शाता है कि एडम गिलक्रिस्ट कितने ईमानदार खिलाड़ी थे।अभी खेल रहे खिलाड़ियों को भी इनसे सीख लेनी चाहिए।