जहा एक तरफ हमं इंतजार कर रहे है भारत और साउथ अफ्रीका के बीच होने वाली जंग की वही दूसरी ओर 13 जनवरी से शुरु होने वाला है अंडर 19 विश्व कप जिसमे भारतीय टीम की कमान संभाली है पृथ्वी शॉ ने ।पृथ्वी शॉ कै अलवा ऑस्ट्रेलिया के कप्तान जैसन सांघा और अफगानिस्तान के ऑफ स्पिनर मुजीब जादरान के ऊपर भी सबकी नजर गढ़ी रहेगी ।

आईसीसी ने उन खिलाड़ियों की लिस्ट जारी की है जो अंडर 19 विश्व कप मे अपनी नींव रखकर , अपना लोहा मनवा सकते है ।साथ मे यह भविष्य के सितारे के रुप मे भी नजर आएगे ।आईसीसी की नजर मे सबसे प्रभावशालि बल्लेबाज भारतीय कप्तान पृथ्वी शॉ है । आइए बताते है आपको पृथ्वी शॉ के बारे मे।

पृथ्वी शॉ महज 18 साल का है , जो बार बार अपने शानदार प्रदर्शन से चयनकर्ताओ को बार बार उसकी ओर ध्यान केंद्रित करने के लिए मजबूर कर रहा है । यह युवा खिलाड़ी पहले भी बहुत सुर्खियों मे रहा है ।

पृथ्वी शॉ जिस तरह खेल रहे है इससे अंदाजा लगाया जा सकता था कि साउथ अफ़्रीका दौरे मे यह भारतीय टीम का हिस्सा बन सकते है, परंतु इनको अभी ओर भी बहुत कुछ सीखना है । पृथ्वी शॉ को भारत का भविष्य भी माना जा रहा है । पृथ्वी शॉ ने प्रभावशाली बल्लेबाजी करते हुए सबको प्रभावित कर दिया था ।

इन्होने अपनी आतशी पारी से सबको चौका दिया , इनमे स्यं से खेलने की भी काबलियत है जो इन्होने इसी रणजी ट्रॉफी सीज़न के एक मैच मे करके दिखाया था। इसका मतलब यह है कि यह परिस्थितियो के हिसाब से अच्छी तरह ढल जाते है।

त्रिपुरा के खिलाफ पृथ्वी शॉ ने 26 गेंद पर अर्धशतक जड़ कर फिर से एक ओर बार सुर्खिया हासिल कर ली थी । पृथ्वी शॉ मुंबई के लिए खेलते है , मुंबई को जीत के लिए 64 रन की जरुरत थी  जवाब मे पृथ्वी शॉ ने आतिशी पारी दिखाई और मैच को 6.2 ओवर मे ही खत्म कर दिया था ।

आईसीसी के अनुसार अंडर 19 विश्व कप हमेशा से ही युवा क्रिकेटरो के लिए एक बड़ा मंच रहा है , जहा से यह अपनी अपनी नैशनल टीम मे भी जाने का मौका पा सकते है ।

पृथ्वी शॉ ने अभी तक एक भी अंतराष्ट्रीय मैच नही खेला है और इसके बावजूद एक से एक कंपनियां इन्हे स्पॉन्सर करने के लिए उत्सुक है ।पृथ्वी शॉ ने हाल ही मे प्रोटीन ब्रांड प्रोटीनेक्स नामक कंपनी के साथ पाँच साल का करार किया है ।

इस करार के बाद पृथ्वी शॉ ने बताया कि मैं बचपन से देख रहा हूं कि प्रोटिनेक्स घर-घर का हिस्सा रहा है। सही शारीरिक विकास और अच्छी लाइफ स्टाइल के लिए प्रोटीन की जरूरत होती है। ये मेरे जैसे खिलाड़ी के लिए ही नहीं, बल्कि हर किसी के लिए जरूरी है।

सचिन तेंदुलकर और विराट कोहली के बाद एमआरएफ ने पृथ्वी शॉ के टैलेंट को परख लिया है और एमआरएफ ने भी पृथ्वी शॉ के साथ करार कर लिया है । अब पृथ्वी शॉ भी एमआरएफ के बैट से खेलते हुए नजर आएगे।