भारतीय पूर्व तेज गेंदबाज आशीष नेहरा नए इसी साल अंतराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह दिया है और अब आशीष नेहरा एक नए रोल मे नजर आए है । आशीष नेहरा ने अब हिंदी कॉमेंटेटरी की कमान संभाल ली है । आशीष नेहरा ने भारतीय टीम की जीत के लिए बहुत बड़े बड़े योगदान दिए है।

भारतीय टीम का 2018 का दौरा शुरु होने वाला है , यह दौरा भारत के लिए बहुत ही महत्तवपूर्ण है । इस दौरे की शुरुआत भी भारत साल 2017 की तरह अपनी जीत के साथ ही करना चाहेगा । इस श्रंखला के लिए कई विशेषज्ञों ने नतीजो पर काम करना शुरु कर दिया है ।

साउथ अफ्रीका दौरे से पहले पूर्व तेज गेंदबाज आशीष नेहरा ने प्रेस ट्रस्ट के साथ बातचीत करते हुए कहा है कि “जसप्रीत बूमराह जैसा गेंदबाज केपटाउन की पिचो पर बहुत सफल साबित हो सकता है । हम सभी ने बूमराह को सफेद गेंद से खेलते देखा है , और एक साल पीछे मुड़कर देखोगे तो हमे पता चल जाएगा की रणजी ट्रॉफी मे बूमराह ने कितने ओवर फैंके है”।

आगे बढ़ते हुए नेहरा जी ने कहा है कि “ भारतीय टीम मे मौजूद सभी पाँच गेंदबाजो मे सबसे तेज थरार यॉर्कर जसप्रीत बूमराह ही डालते है ।इनका एक्शन बहुत ही अजीब है जिस वजह से बल्लेबाजो को खेलने मे मुश्किले पैदा हो सकती है ।केपटाउन के मौसम की भूमिका पहले टेस्ट मैच मे अहम भूमिका निभाएगे, इन्होने कहा है कि जनवरी मे केपटाउन का मौसम काफी गर्म रहता है तो ऐसे मे तेज गेंदबाजी के अनूकूल नही होगी ।

घरेलू क्रिकेट मे बूमराह ने कई अधिक गेंदबाजी की है, ऐसे मे साउथ अफ्रीका मे गेंदबाजी करवाते हुए इन्हे कोई दिक्कत नही होगी ।बूमराह ने पिछले दो साल से सफेद कूकाबूरा से काफी गेंदबाजी की है तो इनके लिए सफेद गेंद और लाल गेंद एक समान ही रहेगी ।

यदि उमस रहती है और पिच सपाट है तो भुवनेशवर कुमार को स्विंग और सीम नही मिलेगी। बूमराह मे लंबे स्पैल फैंकने की अच्छी खासी क्षमता है ।