दुसरे टी-20 के बाद कुलदीप यादव के बयान ने जीता 130 करोड़ भारतीयों का दिल

0
1043

इंदौर के होल्कर मैदान पर खेले गए दुसरे टी-ट्वेंटी में भारतीय टीम ने शानदार जीत दर्ज की. इस शानदार जीत में भारतीय स्पिन गेंदबाज़ो की अहम भूमिका रही. भारतीय स्पिन जोड़ी कुलदीप और चहल ने मैच में 7 विकेट लिये.

261 रनों के कठिन लक्ष्य के जवाब में श्रीलंकन उपरीक्रम के बल्लेबाजों ने तूफ़ानी बल्लेबाज़ी की जिसके बाद कुलदीप ने अपने शुरुआती 3 ओवरों में 40 से अधिक रन दे डाले, और उन्हें भी विकेट नहीं मिली. जिसके कारण कुलदीप कुछ परेशान हो गए.

हालाँकि कप्तान रोहित शर्मा और दिग्गज विकेटकीपर एमएस धोनी ने उन्हें लगातार समझाते रहे, उन्हें भरोसा दिलाते रहे कि उन्हें विकेट मिल सकती हैं. जिसके बाद मैच के 15वे ओवर में कुलदीप यादव को एक या दो नहीं बल्कि 3 विकेट मिले.

Kuldeep Yadav: Rohit Sharma and MS Dhoni backed me and helped me get those wicketsअपने कोटे के चौथे ओवर की पहली गेंद पर कुलदीप ने श्रीलंका के कप्तान थिसारा को शून्य पर पवेलियन भेजा. इसके बाद तूफ़ानी बल्लेबाज़ी कर रहे कुसल परेरा को भी कुलदीप ने अपना शिकार बनाया. जबकि ओवर की पांचवी गेंद पर कुलदीप ने असेला गुनारत्ने को भी अपना शिकार बनाया.

मैच के बाद कुलदीप यादव ने कहा, “मैंने शुरूआती 3 ओवरों में 45 रन लुटाएं, लेकिन मैं तब भी विकेट लेने के बारे में ही सोच रहा था. मैं जानता था, कि अगर मुझे एक विकेट मिल गया तो दूसरा विकेट भी मिल जायेगा. मैंने मैच में जो पहला ओवर डाला था, उसमें हवा में धीमी गेंद डाली थी,  लेकिन विकेट बल्लेबाजी के लिए बहुत अच्छी थी और गेंद बैट पर बड़ी आसानी से आ रही थी. इसके बाद मैं फिर बाहर गेंदें डाल रहा था. फिर मुझे महसूस हुआ कि मुझे विकेट पर गेंदबाजी करने की जरूरत है.”

Image result for kuldeep yadav

रोहित शर्मा और एमएस धोनी की तारीफ़ करते हुए कुलदीप यादव ने कहा, “धोनी और रोहित भाई मेरा समर्थन कर रहे थे और वे कह रहे थे, कि विकेट लेने की कोशिश करे. ये काफ़ी छोटा मैदान है, छक्के-चौके तो लगेंगे ही. धोनी और रोहित मुझसे बाहर गेंद डालने और ऑफ स्टंप के बाहर मिश्रण का प्रयोग करने को बोल रहे थे. तीन ओवरों में 7 विकेट ने सच में मैच का रूख बदल दिया.”