भारत और श्रीलंका के बीच तीन टेस्ट मैचो की श्रंखला का अंतिम टेस्ट मैच जारी है । इस मैच मे भारतीय टीम फतेह हासिल करना चाहेगी , ताकि वह श्रंखला मे 2-0 की बढ़त हासिल कर ले । वही दूसरी ओर श्रीलंका चाहेगी की वह इस मैच को जीतकर अपने सम्मान की रक्षा करे और श्रंखला को बराबरी पर ही रोक ले ।

श्रीलंका के लिए ऐसा करना बेहद मुश्किल होगा क्योँकि पहले टेस्ट मैच मे तो श्रीलंकाई टिम बहुत ही भाग्यशाली रही । पहला टेस्ट मैच ईडन गार्डन मे हुआ था , जहां पर भारतीय तेज गेंदबाजो ने अपनी तेजी से श्रीलंका के आधे से ज्यादा बल्लेबाजो को पस्त कर दिया था । परंतु बैड लाइट की वजह से यह मैच ड्रॉ पर ही खत्म करना पड़ा।

दूसरे टेस्ट मैच मे भारत ने श्रीलंका के चारो खाने पस्त कर दिए थे , या हम बोल सकते है कि श्रीलंकाई गेंदबाज और बल्लेबाजो की पूरी तरह कमर तोड़ दी थी । भारत ने श्रीलंका को अब तक की सबसे बड़ी मात दी थी , श्रीलंका को एक पारी और 239 रन से हराया था । अब इस हार के बाद श्रीलंका बैकफुट पर तो होगी परंतु यह तीसए मैच मे एक अलग ही आत्मविश्वास के साथ खेलने के लिए उतरे है ।

तीसरा और अंतिम टेस्ट मैच दिल्ली के फिरोज़शाह कोटला मैदान पर हो रहा है । यहा पर भारत का रिकॉर्ड काफी अच्छा है । भारत दिल्ली के फिरोज़शाह कोटला मैदान पर 33 टेस्ट मैच खेल चुकी है, जिनमे से 13 मे जीत मिली है , 6 मे हार और 14 मैचो मे ड्रॉ।

लेकिन इसमे हैरानी की बात यह है कि भारत इस मैदान पर आखिरी मैच जो हारा था वो सन 1987 मे हारा था । उस वक्त वेस्ट इंडिस ने भारत को 5 विकेट से हराया था । इसके बाद इस मैदान पर भारत 11 मैच खेली है जिसमे से 10 मैच मे भारत ने जीत दर्ज कि है । सिर्फ एक मैच ड्रॉ हुआ था जो दिसंबर 2005 मे खेला गया था ।