भारत के दो ऐसे दिग्गज खिलाड़ी सुरेशं रैना और युवराज सिंह दोनो ही भारतीय टीम का हिस्सा नही है , इनका टीम मे चयन ना होने से बहुत से लोगों ने निराशा दिखाई थी । हम सबको पता है कि इन दोनो खिलाड़ियों ने भारत को कई बार बड़े मैचों मे वापसी दिलाकर एक बड़ी जीत दिलाई है। इन दोनो खिलाड़ियों की महत्तवता बहुत है पर प्रतियोगिता भी कुछ ज्यादा ही बढ़ गई हैँ जिस वजह से इन दोनो को टीम मे जगह नही मिल रही है ।

Source : AFP

यह दोनो ही बल्लेबाज बाए हाथ से बल्लेबाजी करते है , इनके बाद तो भारतीय टीम मे बाएँ हाथ के बल्लेबाजो की कमी हो गई है । हम सब जानते है कि भारतीय टीम मे बाएँ हाथ के बल्लेबाजो ने बेहतर प्रदर्शन करके दिखाया हुआ है , जिसका इतिहास गवाह है । अब ऐसी स्थिति है कि हमारी टीम मे एक भी प्रमुख बाए हाथ का बल्लेबाज नही है ।

भारतीय टीम को नंबर चार पर बल्लेबाजो की कमी खल रही है , हम सभी जानते है कि बाए हाथ के बल्लेबाज कभी भी किसी भी समय गेम को बदलने मे सक्षम है और इन्हे पता है कौनसी स्थिति मे कैसा खेलना है जिसकी बदौलत यह विपक्षी खेमे से मैच को छीन सकते है । हमारे हिसाब से युवराज सिंह नंबर चार के लिए बेहतर बल्लेबाज है, क्योँकि 2015 के बाद से युवराज सिंह ने 44 की औसत से इस क्रम पर बल्लेबाजी की है ।

युवराज सिंह दुनिया के बेहतरीन बल्लेबाजो मे से एक है , इन्होंने भारत के लिए कई मैच विजेता की पारिया खेली है , खासकर विश्व कप 2011 मे और टी-20 विश्व कप 2007 में । हम मानते है कि भारतीय टीम अच्छा खेल रही है पर फिर भी भारतीय टीम को बाए हाथ के इस बल्लेबाज की कमी खल रही है ।

सिर्फ एक ही रास्ता है जिससे युवराज सिंह टीम मे वापसी कर सकते है वह है कि इन्हें अपनी कीमत चयनकर्ताओं को बतानी पड़ेगी और अपने खेल को ओर बेहतर करके आलोचकों का मुँह बंद करवाना होगा । इसमे कोई शक नही कि युवराज सिंह ने इन्होंने भारतीय टीम  को जीताने के लिए कई यादगार पारिया खेली है ।

युवराज सिंह के लिए फिट्नेस बहुत ही ज़रूरी है , क्योँकि फिटनेस के बिना युवराज सिंह यो यो टेस्ट पास नही कर पाएगे और हम सब जानते है कि यो यो टेस्ट मे फेल खिलाड़ी का टीम मे चयन नही होता। हाल ही मे पता चला है कि युवराज सिंह भारतीय टीम मे वापसी के लिए तैयारियों मे जुट गए है, इन्होने बैंगलोर की नेशनल क्रिकेट एकेडमी मे ट्रेनिंग करना शुरु कर दिया है , ताकि वह यो यो टेस्ट पास कर सके ओर भारतीय टीम मे वापसी करके नंबर चार पर बल्लेबाज की परेशानी को खत्म करे।