भारत मे क्रिकेट का सबसे बड़ा मंच है आईपीएल , जिसमे कई खिलाड़ियों ने अपनाई टैलेंट को उभार कर सबके सामने रख दिया है और यह ऐसा मंच है जहा परफॉर्म करने पर भारतीय टीम मे जगह मिल सकती है। आईपीएल के हर साल नया संस्करण होता है , इस नए संस्करण के साथ कुछ ना कुछ टीमो मे बदलाव आते ही है और इस नए संस्करण के साथ कुछ ना कुछ रोमांच जरुर आता है ।

अब 2018 मे एक नया संस्करण आने वाला है जिसमे आईपीएल की एक नई शुरुआत होगी यानि आईपीएल फिर से शुरु होगा । अगले साल होने वाले आईपीएल मे फिर से खिलाड़ियों की निलामी होगी , जिसमे अधिकतम खिलाड़ियों उनकी एक नई टीम मिले ।

टाइम्स ऑफ इंडिया मे छपी एक खबर के मुताबिक बीसीसीआई अगले साल भी आईपीएल मे रिटेन पॉलिसी लागू रख सकती है , इस बात की जानकारी बीसीसीआई के अधिकारी ने दी है । उन्होने कहा है कि अधिकतर फ्रेंचाइजी यह चाहती है कि यह पॉलिसी ऐसे ही लागू रखी जाए । बस हमे एक ही सम्स्या का समाधान करना है , कि कितने खिलाड़ियों को रिटेन किया जाए ।

बीसीसीआई ने आगे कहा कि अब खिलाड़ियों की संख्या पर निर्णय करना है  कि अब कितने खिलाड़ियों को रिटेन किया जाए , तीन या पाँच । इस सम्स्या के समाधान के लिए एक बैठक का आयोजन किया गया है जो 21 नवंबर को होगी ।

हालाँकि एक ओर बीसीसीआई के अधिकारी का कहना है कि अधिकतम सभी फ्रेंचाइजी के मालिक रिटेन पॉलिसी से खुश है पर कुछ है जो नाखुश है । साथ मे इस बात का भी खुलासा हुआ है कि फ्रेंचाइजी उन्ही खिलाड़ियों को रिटेन कर सकती है जो टीम मे रहना चाहते है , खिलाड़ियों कीमर्जी के बगैर वह यह निर्णय नही कर सकते ।

नए नियमो के तहत खिलाड़ियों को यह भी सहूलियत दी गई है कि कोई खिलाड़ी किसी फ्रेंचाइजी से जुड़ा है तो वह फिर भी नई निलामी मे भाग ले सकता है और उसे फ्रेंचाइजी को रोकने का अधिकार नही होगा । साथ ही अगर खिलाड़ी नई निलामी की रकम से संतुष्ट नही है तो वह फिर से अपनी पुरानी टीम मे जगह बना सकता है । इसके अतिरिक्त खिलाड़ी हर साल अपने आप को निलामी मे शामिल कर सकते है ।