3 मैचो की सीरीज के फाइनल मुक़ाबले में भारतीय टीम ने रोमांचक मुक़ाबले में न्यूज़ीलैण्ड को 6 रन से हारकर सीरीज में 2-1 से शानदार जीत दर्ज की. इस दौरान विराट कोहली टीम के कप्तान हैं. भारतीय टीम में धोनी एक ऐसे खिलाडी है, जो टीम के साथ अपना अनुभव शेयर करते रहते है, जिस कारण टीम के सभी खिलाडी उनका बेहद सम्मान करते हैं.

रिस्ट स्पिनर युज्वेन्द्र चहल टीम के  युवाओं में से एक, जिन्होंने टीम में जगह बनाने में कामयाबी हासिल की है.

Image result for yuzvendra chahal with dhoni

फाइनल वनडे से पहले चहल ने एक इंटरव्यू दिया. इस दौरान उनसे धोनी के लीडरशिप गुणों के बारे में पूछा गया:-

युज्वेन्द्र चहल ने एनडीटीवी.कॉम को बताया, “धोनी भाई अब भी हमारे कप्तान हैं.”

“कभी-कभी, जब कोहली भाई मिड ऑन या लॉन्ग ऑन में होते हैं, तो हमें ऐसे किसी व्यक्ति की ज़रूरत होती है जो हमारा मार्गदर्शन कर सकता हो. कोहली भाई के लिए मिड ऑन और लॉन्ग ऑन आकर बताना संभव नहीं है, कि हमे क्या करने की जरूरत हैं. फिर धोनी टेकओवर कर लेते हैं.”

चहल ने बताया, “धोनी कोहली को अपनी जगह पर बने रहने की संकेत देते है. वह कहते है. तू वही रह, मैं देख लूँगा.”

“असल में यह समय भी बचाता हैं. धोनी के पास अतुल्य अनुभव हैं. हम भाग्यशाली है, कि हम उनके साथ फ़ील्ड साँझा कर रहे हैं.”

Image result for ms dhoni leadership skillsयह अच्छा है कि धोनी अब भी लीडर की भूमिका निभाता है क्योंकि इससे खेल के दौरान कोहली पर से दवाब कम करने में मदद मिलती हैं.

डीआरएस हो या फ़ील्डिंग लगाना हो धोनी हमेशा से विराट कोहली के काम आते है, यही कारण है, कि मैच दौरान के विराट कोहली पर दवाब बेहद कम देखने को मिलता हैं. मैच के दौरान विकेट के पीछे धोनी की मौजूदगी हमेशा टीम के काम आती है, कुछ ऐसा ही न्यूज़ीलैण्ड के विरुद्ध तीसरे वनडे में भी देखने को मिला.

नीचे शेयर की गई विडियो में धोनी बतौर अनुभवी खिलाड़ी कप्तान विराट कोहली और टीम के साथी खिलाडियों को समझाते हुए दिखाई दे रहे हैं.

देखे विडियो:-