ऐसा लगता है, कि बीसीसीआई एकदिवसीय मैचों में अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट नियमों से अलग भारत के लिए आधिकारिक और अनौपचारिक कप्तान के साथ प्लेयिंग XI में उतार रही हैं. पूर्व भारतीय कप्तान एमएस धोनी मैदान पर अपने शांत स्वाभाव के लिए जाने जाते है. दुसरे वनडे में धोनी मैदान पर बेहद शांत स्वभाव से मैदान पर फ़ील्डरों से बातचीत करते हुए दिखाई दिए, हालाँकि इस दौरान धोनी की बातचीत स्टंप माइक में रिकॉर्ड गई, जोकि अब क्रिकेट प्रसंश्को का दिल जीत रही हैं.

Image result for ms dhoni
स्टंप माइक में धोनी केदार जाधव को एक ही लाइन लेंथ के साथ गेंदबाजी करने का सुझाव करते हुए सुनाई दे रहे है, जबकि दूसरी ओर धोनी लॉन्ग ऑन पर खड़े कप्तान विराट कोहली का भी मार्गदर्शन कर रहे हैं. बुधवार को पुणे में खेले गए वनडे के दौरान भारत पर सीरीज हारने का ख़तरा मंडरा रहा था, इसलिए धोनी ने फ़ील्डिंग के दौरान खिलाडियों को सही तरह से मेंटर करने की जिम्मेदारी अपने कंधो पर ले ली. धोनी लगभग 10 वर्षो  तक भारतीय टीम के कप्तान रहे, करियर कई बार धोनी इस तरह की स्तिथि से गुजर चुके हैं.

पिछले के पीछे कुछ अंदाज़ में धोनी बातचीत करते हुए सुनाई दिए धोनी:-

धोनी ने कोहली से कहा:-  बहुत बढ़िया.. चीकू(कोहली) दो-तीन जान दो इधर छोड़ दे.

धोनी ने जाधव से कहा:- यहाँ से करने दे जो करना है.

धोनी जाधव को समझाया हुए की कैसे लेथम को गेंदबाजी करे :- ये बॉल अच्छा है इसके लिए बीच-बीच में, हर तीसरा बॉल एक डाल सकता है.

धोनी ने केदार जाधव से कहा: बहुत बढ़िया केदू (केदार)

धोनी ने कार्तिक से: बहुत बढ़िया डीके

निकोलस को गेंदबाजी के दौरान केदार को समझते हुए धोनी ने कहा:- बहुत बढ़िया, ठीक है डालता रह, एक बार करेंगे फिर दिमाग में घुसता हैं, डालते ही रहना.

ओवर के बीच में कोहली को समझाते हुए धोनी: चीकू, एक बॉल और रखेगा एक बॉल जो पहले रखा था में मैच के लिये.

यह मौका नहीं है, जब दिग्गज धोनी के विकेट से पीछे से टीम इंडिया के खिलाडियों का मार्गदर्शन करते हुए दिखाई या सुनाई दिए हैं. धोनी हमेशा से युवा खिलाडियों और कप्तान विराट कोहली के साथ अपना अनुभव शेयर करते रहते हैं.

देखे विडियो:-