भारत के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के नाम कई रिकॉर्ड दर्ज है , महेंद्र सिंह धोनी एक बेहतर विकेट कीपर के साथ साथ एक अच्छे बल्लेबाज भी है , जो जरुरत आने पर टीम के लिए अहम भूमिका निभाते है और मैच जितने मे भी अपना अहम योगदान देते है।

क्या अप सब जानते है कि एक नॉर्मल व्यक्ति की आँख झपकते हुए कितना समय लेती है ? अगर जानते है तो अच्छा है और अगर नही जानते तो हम बता दे कि इस प्रक्रिया को .10 सैकनड्स लगते है ।

भारतीय क्रिकेट मे भी एक महान खिलाड़ी है जो पलख झपकते ही अपने दस्तानो से कैच पकड़ लेते है । जी हा आप सही समझे ह्म बात कर रहे है विकेट कीपर महेंद्र सिंह धोनी की , जिन्होंने ऐसा ही कारनामा भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया के पहले मैच मे किया था ।

महेंद्र सिंह धोनी को विश्व का बेहतरीन फिनिशर भी माना जाता है ,यह ना ही सिर्फ बेहतरीन कप्तान के रुप मे उभर के आए है बल्कि बेस्ट फिनिशर और बेस्ट विकेट कीपर के नाम से भी उभर के आए है । आज पुणे मे दूसरा एकदिवसीय मैच है जिसमे महेंद्र सिंह धोनी ने एक ओर इतिहास रच दिया है , इनकी जैसे जैसे उम्र बढ़ती जा रही है वैसे वैसे यह भारत के लिए और विश्व मे रिकॉर्ड बनाए जा रहे है ।

महेंद्र सिंह धोनी ने जैसे ही भुवनेशवर कुमार की गेंद पर मार्टिन गुप्टिल का कैच लपका वैसे ही उनके भारत की जमीन पर 200 अंतराष्ट्रीय कैच पूरे हो गए , धोनी ने 223 पारी मैं 201 कैच लपक लिए है और धोनी ऐसा करने वाले पहले भारतीय और विश्व के तीसरे विकेट कीपर बन गए है ।

धोनी से पहले इंग्लैंड के एलेक स्टीवर्ट और कुमार संगाकारा ने यह कारनामा कर दिखाया है , परंतु स्टीवर्ट ने यह कारनाम 131 पारियो मे ओर संगाकारा ने 165 पारियों मे कर दिखाया है , इस हिसाब से महेंद्र सिंह धोनी ऐसा कारनामा करने वाले सबसे धीमे विकेट कीपर बने ।

इससे अलावा भुवनेशवर कुमार और जसप्रीत बूमराह की जोड़ी ने पहले सात ओवर मे ही विरोधी टीम की तीन विकेट गिराकर रिकॉर्ड बना दिया , इससे पहले चेन्नई एकदिवसीय मैच मे भारतीय तेज गेंदबाजो ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ यह कारनामा कर दिखाया था ।