भारत की इस युवा टीम ने अपना बेहतरीन प्रदर्शन किया चाहे आप बल्ले से ले लो या फिर गेंद से इन्होने अपने प्रदर्शन मे कोई कमी नही छोड़ी है । भारत के युवा खिलाड़ियों ने विश्व जगत मे सुर्ख़ियाँ बटौरी है , इन युवा खिलाड़ियों ने सभी को अपने खेल से प्रभावित किया है ।

हार्दिक पंड्या की बात करे तो भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया एकदिवसीय श्रंखला के अंत मे यह मैंन ऑफ द सिरिज़ घोषित किए गए थे , जिसके बाद से हार्दिक की सारे विश्व मे प्रशंसा हो रही है ।इन दिनो वर्तमान खिलाड़ियों के साथ साथ पूर्व खिलाड़ी भी इनकी प्रशंसा करने से पीछे नही हट रहे , ऐसे मे पूर्व कप्तान कपिल देव जो भारत के दिग्गज ऑल राउंडर रह चुके है , इन्होने भी पंड्या की प्रशंसा की है ।

बीते कल न्यूजीलैंड के खिलाफ हुए पहले एकदिवसीय मैच मे हार्दिक पंड्या ने भारतीय टीम मे अपनी उपयोगिता को साबित कर दिया है , मुंबई एकदिवसीय मैच मे जैसे ही हार्दिक पंड्या ने अपना 15वा रन बनाया वैसे ही इन्होंने एक रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया था |

इस मैच मे पंड्या ने कुल 16 रन बनाए , जिसके साथ इन्होने एक कैलेंडर वर्ष मे अपने नाम 500 रन किए और इसी के साथ पंड्या भारत के तीसरे ऐसे ऑल राउंडर बन चुके है जिसने एक कैलेंडर वर्ष मे 500 से ज्यादा रन बनाने के साथ साथ 25 विकेट भी लिए है । इनसे पहले यह कारनामा कपिल देव ओर रॉबिन सिंह ने भी किया है ।

कपिल देव ने यह कारनामा दो बार 1983 और 1986 मे कर दिखाया था और रॉबिन सिंह ने यह कारनामा 1997 मे कर दिखाया था । मुंबई मैच की बात करे तो पंड्या ने अपनी बल्लेबाजी की शुरुआत शानदार तरीके से की थी , जब इन्होंने सैंटनर को एक लंबा छक्का मारा था । हालाँकि यह इस मैच मे अपनी पारी को लंबा नही कर पाए क्योँकि इन्होंने अपनी बल्लेबाजी के दौरान स्यं नही रखा और 16 गेंदो पर 16 रन बनाकर आउट हो गए थे ।

गेंदबाजी मे हार्दिक ने अपना शानदार प्रदर्शन दिखाया ओर भारत के लिए एक विकेट भी ली जिसकी बदौलत भारत ने मैच मे पकड़ बना ली थी , परंतु फिर भी इस पकड़ का कोई फायदा नही हुआ और भारत के हाथ से मैच फिसल गया ।